जागरण संवाददाता, अमृतसर

चीफ खालसा दीवान के अध्यक्ष पद के उम्मीदवार निर्मल ¨सह ठेकेदार के बेटे हरनीत ¨सह समेत 16 जाली वोटों को दीवान की मतदाता सूचि से बाहर कर दिया गया है। यह फैसला दीवान की बुधवार को हुई कार्यकारिणी कमेटी की बैठक में लिया गया। वोटर सूचियों में संशोधन को लेकर दीवान की कार्यकारिणी की बैठक बुधवार को बुलाई गई थी। वोटर सूची में फर्जी वोटों को लेकर चरणजीत ¨सह चड्ढा ग्रुप के समर्थक अमरजीत ¨सह भाटिया ने यह मामला उठाया था। इस के साथ ही भाटिया ने नए बनाए गए सदस्यों भाग ¨सह अणखी, हरभजन ¨सह सोच व अवतार ¨सह की वोटों पर भी एतराज प्रगट किया और की शिकायत आरनरेरी सचिव को की थी।

वोटरों को लेकर दीवान के सदस्यों की दीवान के गुरुद्वारा साहिब में हुई बैठक के दौरान श्री गुरु ग्रंथ साहिब की हजूरी में सदस्यों ने गुरु मर्यादा को नजर अंदाज करके हंगामा किया। परिणाम कोई भी सामने न आने के कारण इस बैठक को एक घंटे के लिए स्थगित कर दिया गया। बाद में दोबारा हुई बैठक में लम्बी बहस के बाद दीवान के आनरेरी सचिव न¨रदर ¨सह खुराना ने कहा कि वोटर सूची में एतराज वाली वोटों पर चर्चा करने के बाद निर्मल ¨सह ठेकेदार के बेटे हरनीत ¨सह समेत 16 जाली वोटों को वोटर सूची में से निकाल दिया है। चरणजीत ¨सह चड्ढा ग्रुप के अध्यक्ष पद के उम्मीदवार सर्बजीत ¨सह और उनके साथियों ने लुधियाना कमेटी के अध्यक्ष अमरजीत ¨सह की ओर से जाली वोट बनाने का आरोप लगाया है, जिसकी जांच करवाई जाए। विक्रांत उपाध्यक्ष पद के उम्मीदवार है। इस लिए चुनाव परिणाम घोषित करने के वक्त उनका परिणाम घोषित नहीं किया जाएगा तब तक विवाद निपट नहीं जाता। जांच की रिपोर्ट आने के बाद ही उपाध्यक्ष पद का परिणाम घोषित किया जाएगा। सर्बजीत ¨सह ने यह भी मांग की है कि विक्रांत का नाम भी सूची से बाहर निकाला जाए और उसके खिलाफ नियमों के अनुसार कार्रवाई की जाए। चड्ढा ग्रुप के आनरेरी सचिव के लिए उम्मीदवार एडवोकेट जस¨वदर ¨सह ने कहा कि अणखी ग्रुप की ओर से उनके ग्रुप के सदस्यों पर राजनीतिक दबाव डाल कर डराया धमकाया जा रहा है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!