जागरण संवाददाता, तरनतारन : किसानों को धान की रोपाई लिए रोज आठ घंटे बिजली सप्लाई करवाई जा रही है। साथ ही आम लोगों को बेहतर सेवाएं प्रदान करने में भी कसर नहीं छोड़ी जा रही। यह बात पावरकॉम के निगरान इंजीनियर जतिंदर सिंह ने कही।

उन्होंने बताया कि बिजली चोरी रोकने के लिए चलाए जा रहे अभियान के तहत 11 केवी शेरों अर्बन, चीमा प्रिंगड़ी व जौड़ सिंह वाला फीडर में चेक किए गए। चेकिंग के दौरान कुल 1796 केसों की जांच की गई। 140 मामले चोरी के पाए गए। यह चोरी घरेलू खपतकारों द्वारा की जा रही थी। उन्होंने बताया कि एक आटा चक्की पर भी बिजली चोरी का मामला सामने आया है, इसके चलते 27.85 लाख बतौर जुर्माना वसूल किए गए है। उन्होंने कहा कि बिजली चोरी के कारण ट्रांसफार्मर खराब होते हैं व तारे टूटती है, जो बिजली सप्लाई में रुकावट पैदा करते हैं। ऐसे में लोगों को चाहिए कि वह बिजली चोरी करने वालों की शिकायत पावरकॉम को दें।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!