जेएनएन, चंडीगढ़। पूर्व कांग्रेस मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के पाकिस्तान जाने पर हंगामा खड़ा करने वाला शिरोमणि अकाली दल अब कबड्डी टूर्नामेंट खेलने पाकिस्तान गई टीम के मामले में बुरी तरह घिर गया है। यह टीम शिअद के वर्चस्व वाली पंजाब कबड्डी एसोसिएशन (PKA) की सहमति के बाद ही पाकिस्तान गई थी। भारत-पाकिस्तान के तनावपूर्ण संबंधों के बीच टीम को पाक जाने की इजाजत देने से PKA पर सवाल खड़ा हो गया है, क्योंकि PKA ने खेल मंत्रालय, भारतीय ओलंपिक संघ और एमेच्योर कबड्डी फेडरेशन ऑफ इंडिया को सूचित किए बिना ही पाकिस्तान कबड्डी फेडरेशन का निमंत्रण स्वीकार कर लिया और टीम भी भेज दी।

PKA के अध्यक्ष सिकंदर सिंह मलूका शिरोमणि अकाली दल के बड़े नेता व पूर्व मंत्री हैं। वहीं, पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने इस मुद्दे पर शिअद अध्यक्ष सुखबीर बादल को घेरा है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में दल का नेतृत्व करने वाले तेजिंदर सिंह मिड्डू खेड़ा सुखबीर के करीबी हैं, इसलिए मामले की जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) से कराई जानी चाहिए।

खास बातें

  • खेल मंत्रालय को जानकारी दिए बिना पंजाब एसोसिएशन ने स्वीकार किया पाक का निमंत्रण 
  • पाकिस्तान कबड्डी फेडरेशन को पिछले साल नवंबर में लिखा पत्र- निमंत्रण के लिए धन्यवाद
  • कांग्रेस अध्यक्ष जाखड़ बोले- सुखबीर का करीबी कर रहा टीम का नेतृत्व, NIA से कराई जाए जांच
  • भारतीय ओलंपिक संघ के अध्यक्ष नरेंद्र बत्रा की दो टूक- 'भारत' शब्द का उपयोग नहीं कर सकते

वहीं, मलूका का कहना है कि जो भी खिलाड़ी गए हैं, वह टीम के रूप में नहीं, बल्कि व्यक्तिगत रूप से गए हैं। उन्होंने माना कि उन्हें टूर्नामेंट के बारे में जानकारी थी और निमंत्रण मिला था। हालांकि पाकिस्तान कबड्डी फेडरेशन के सेक्रेटरी मो. सरवर राणा इससे इन्कार कर रहे हैं। गौरतलब है कि भारतीय खिलाडिय़ों का यह दल शनिवार को अटारी सीमा से होते हुए लाहौर पहुंचा था। इसमें 60 खिलाड़ी शामिल हैं। यह खिलाड़ी वहां भारतीय राष्ट्रीय ध्वज के तले टूर्नामेंट खेल रहे हैं।

क्या है पत्र में

पंजाब कबड्डी एसोसिएशन के जनरल सेक्रेटरी अमरप्रीत सिंह मल्ही ने पिछले साल 28 नवंबर को पंजाब कबड्डी फेडरेशन (PKF) को पत्र लिखा था कि वे निमंत्रण के लिए PKF का धन्यवाद करते हैं। हमने तैयारी शुरू कर दी है। हम भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिए उत्साहित हैं। हम जल्द ही खिलाडिय़ों की सूची उपलब्ध करवा देंगे।

केंद्रीय खेल मंत्री बोले- नहीं दी अनुमति, जांच करेंगे

केंद्रीय खेल एवं युवा मामलों के मंत्री किरण रिजिजू ने सोमवार को स्पष्ट किया है कि किसी भी भारतीय खिलाड़ी को टूर्नामेंट में भाग लेने के लिए पाकिस्तान जाने की अनुमति नहीं दी गई है। वीजा देने का मामला किसी देश का संप्रभु विशेषाधिकार है। इसमें हमारी कोई भूमिका नहीं है, लेकिन देश या भारत के ध्वज के नाम पर खेलने के मामले की जांच की जाएगी। हम कबड्डी महासंघ से बात करेंगे कि यह एक पूर्व सूचित दौरा था या नहीं।

IOA नाराज, कहा- कबड्डी टीम के खिलाफ शिकायत दर्ज करेंगे

भारतीय ओलंपिक संघ (IOA) के अध्यक्ष नरेंद्र बत्रा ने सोमवार को कहा कि हम पाकिस्तान में टूर्नामेंट में भाग लेने वाली कबड्डी टीम के खिलाफ शिकायत दर्ज करेंगे। अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (IOC) के ढांचे के तहत इस प्रकार की गतिविधियों की अनुमति नहीं है। हम यूरोपीय कानूनों को ध्यान में रखते हुए कानूनी सलाह लेंगे। तभी हम आपत्ति दर्ज कराएंगे। हम अभी मामले को देख रहे हैं। यह भारत के लिए राजनीतिक रूप से संवेदनशील मुद्दा है। लाहौर पहुंची टीम में भारत की ओर से कोई अधिकारी नहीं है, इसलिए वे अपने बैनर तले 'भारत' शब्द का उपयोग नहीं कर सकते।

कानूनी कार्रवाई करेगी एकेएफआइ

एमेच्योर कबड्डी फेडरेशन ऑफ इंडिया (एकेएफआइ) के प्रशासक जस्टिस एसपी गर्ग ने कहा कि हमने कभी किसी कबड्डी टीम को पाकिस्तान में खेलने की इजाजत नहीं दी। इस मामले में कानूनी कार्रवाई करेंगे। हमें कबड्डी टीम के पाकिस्तान जाने के बारे में कोई जानकारी नहीं है।

पंजाब के खेल मंत्री बोले- हमारा खिलाडिय़ों से कोई लेना-देना नहीं

पंजाब सरकार ने भी सोमवार को स्पष्ट कर दिया कि पाक गए खिलाडिय़ों का सरकार से कोई लेना-देना नहीं है। खेल मंत्री राणा गुरमीत सिंह सोढ़ी ने कहा कि खिलाड़ी राज्य या देश का प्रतिनिधित्व नहीं कर रहे।

एक करोड़ की पुरस्कार राशि

टूर्नामेंट के आयोजकों के अनुसार तीन शहरों में होने वाले टूर्नामेंट में 10 देशों की टीमें हिस्सा ले रही हैं। टूर्नामेंट में कुल 24 मैच खेले जाने हैं। इसमें विजेताओं को एक करोड़ रुपये की पुरस्कार राशि दी जाएगी, जबकि रनर अप को 75 लाख रुपये मिलेंगे। 10 देशों में पाकिस्तान, भारत, कनाडा, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, ईरान, केन्या, सिएरा लियोन और अजरबैजान शामिल हैं।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!