गोरखपुर, जेएनएनमेडिकल की पढ़ाई करने वाले नेपाल के चार छात्र-छात्राओं को उनके लक्ष्य (सोनौली सीमा) तक पहुंचाने की व्यवस्था कर जिला प्रशासन ने एक नई मिसाल कायम की है। इस सहयोग के लिए नेपाली छात्र-छात्राओं ने जिला प्रशासन के प्रति कृतज्ञता जाहिर करते हुए थैंक-यू कहा।

हैदराबाद से आए नेपाली छात्र थे

दरअसल, नेपाल के सुजना व आश, प्रतीक्षा, अचला हैदराबाद में मेडिकल के स्टूडेंट हैं। ये चारों मंगलवार को हैदराबाद से गोरखपुर टर्मिनल पर पहुंचे थे। पासपोर्ट से बाहर निकलने पर उन्हें पता चला कि गोरखपुर से सोनौली के लिए कोई वाहन नहीं है।

कंट्रोल रूम को फोन

ऐसी स्थिति में उन्होंने जिला प्रशासन के नियंत्रक कक्ष संख्या 9454416252 पर फोन किया। नेपाली छात्र-छात्राओं के गोरखपुर टर्मिनल पर फंसने की जानकारी होने पर अपर जिलाधिकारी वित्त राजेश सिंह ने उनके लिए सोनौली तक एक इनोवा टैक्सी का इंतजाम करवाया। रात्रि आठ बजे चारो को सोनौली बार्डर पर छोड़ दिया गया। उन्होंने एडीएम वित्त का सहयोग के लिए आभार जताया।

कंट्रोल रूम के नंबर पर फोन करने पर सहायता मिलेगी

इस संबंध में अपर जिलाधिकारी वित्त / राजस्व राजेश सिंह ने कहा कि नेपाल के एक छात्र व तीन छात्राओं ने वीजा से फोन किया था। इसके बाद उन्हें सोनौली बार्डर तक छोड केे के लिए टैक्सी का इंतजाम करवाया गया। जिला प्रशासन सबकी सेवा में देखो। किसी भी लंबे समय तक कंट्रोल रूम के नंबर पर फोन कर सहायता ली जा सकती है। जे

Posted By: Pradeep Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस