राज्य ब्यूरो, कोलकाता। तृणमूल के नवनियुक्त प्रवक्ता और पूर्व राज्यसभा सदस्य कुणाल घोष ने उन अफवाहों को यह कहते हुए हवा दे दी कि मुकुल रॉय भाजपा छोड़ कर तृणमूल में लौटना चाहते हैं। कुणाल के मुताबिक मुकुल स्वयं इस संबंध में पहल कर चुके हैं। मुख्य विषय पर सीधे कुछ भी कहे बिना मुकुल ने सतर्क प्रतिक्रिया दी और कहा कि मैं तृणमूल प्रवक्ता की बातों का क्या जवाब दूं?

राजनीतिक हलकों में मुकुल लेकर चर्चा गर्म

 पार्टी छोड़ने वाले कई जाने-पहचाने चेहरे हाल के दिनों में तृणमूल में लौट आए हैं। राजनीतिक हलकों में मुकुल लेकर भी चर्चा गर्म हो रहा है। हालांकि मुकुल ने खुद इसका खंडन किया था, लेकिन कुणाल ने शनिवार को इस मुद्दे को फिर हवा दे दी है। उन्होंने कहा कि तृणमूल और मुकुल के बीच चर्चा हुई है या नहीं इस लेकर वे बहुत कुछ नहीं कह सकते। परंतु, मैं यह कह सकता हूं कि क्या मुकुल अपनी पोती के सिर पर हाथ रखकर यह कह सकते हैं कि वे तृणमूल में लौटने के इच्छुक नहीं हैं। यह मत कहे कि उन्होंने इस बारे में कहीं भी तृणमूल के साथ कोई चर्चा नहीं की है। 

मुकुल ने कहा, तृणमूल प्रवक्ता की बातों का क्या जवाब दूं

इस पर मुकुल ने कहा कि मैंने एक प्रेस कांफ्रेंस में सब कुछ कह चुका हूं। बता दें कि मुकुल-तृणमूल की बैठक के बारे में चल रही अफवाहों का जिक्र करते हुए कुणाल ने कहा कि नया कुछ भी नहीं है। कई लोग जो तृणमूल छोड़कर भाजपा में शामिल हुए हैं, वापस लौट रहे हैं। कुणाल ने दावा किया कि पार्टी निश्चित रूप से चर्चा करेगी, क्योंकि मुकुल की पुराने कार्यकर्ता के रूप में वापसी की रुचि स्पष्ट है। यहां बताते चलें कि कुणाल घोष सारधा चिटफंड घोटाले में लंबे समय तक जेल में बंद थे। तृणमूल ने उन्हें पार्टी से निलंबित कर दिया था। परंतु, पिछले माह तृणमूल प्रमुख व मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पार्टी में काफी फेरबदल किया और कुणाल को लौटाया ही नहीं बल्कि राज्य कमेटी में शामिल करते हुए राज्य प्रवक्ता भी बना दिया। 

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस