लखनऊ, जेएनएन। विधानमंडल के शीतकालीन सत्र के दूसरे दिन उत्तर प्रदेश में कनून-व्यवस्था को लेकर विपक्ष के करीब एक तक चले जोरदार हंगामे के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने सदन में सफाई प्रस्तुत की। उन्होंने अपने कार्यकाल की प्रदेश में कानून का राज स्थापित करने के लिए किये गए प्रयासों का उल्लेख करते हुए कहा कि प्रदेश की कानून व्यवस्था सर्वोत्तम है और देश और दुनिया के लिए एक नजीर है। पूरे प्रदेश में पिछले ढाई साल में कोई दंगा नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि हम सभी बेटियों की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध हैं, लेकिन किसी को भी अराजकता फैलाने की छूट किसी को नहीं देंगे।  

सदन को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा किसी भी सभ्य समाज के लिए हिंसा और अपराध के लिए कोई जगह नहीं होनी चाहिए। इसलिए अपराध और अपराधियों के खिलाफ प्रदेश सरकार की जीरो टालरेंस नीति का ही परिणाम है कि अपराधी या तो जेल के अंदर है या प्रदेश छोड़कर भाग चुका है। उन्होंने कहा कि इसके परिणाम भी समाने आए हैं। यदि हम 2016 और 2019 के बीच हुए अपराधों की तुलना करें तो अपराधों काफी कमी आई है। अपरहण, दुष्कर्म और हत्या के अपराधों में कमी आई है। सीएम योगी ने आंकड़े प्रस्तुत करते हुए कहा कि महिलाओं के साथ अपराध हम सब की चिंता का विषय है। सभ्य समाज में इस प्रकार के अपराधों कभी भी राजनीतिक नजरिये से नहीं देखा जाना चाहिए। क्योंकि बेटी तो सब की है और यही हमारी परम्परा भी रही है।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पिछली सरकार में जन्माष्टमी और कावड़ यात्रा को प्रतिबंधित किया था। आज कावड़ यात्रा और जन्माष्टमी पूरे धूमधाम से मनाई जा रही है। जब कोई अपराधी मारा जाता है तो यह कैंडल मार्च निकालते हैं। सबसे ज्यादा समस्या सपा के विधायकों को होती है। अपराध अपराध है, अपराधी को हर हाल में सजा मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि दुष्कर्म के छह मामलों में हमने एक माह में सजा दिलाई। उन्नाव और बिजनौर की घटना दुर्भाग्यपूर्ण है। कोई अपराधी बचने न पाए उस पर काम कर रहे हैं। अदालतों की सुरक्षा के लिए काम किया जा रहा है। बिजनौर जैसी घटनाओं को सरकार रोकेगी। न्यायपालिका की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध हैं। कार्ययोजना पर न्यायपालिका की सहमति का इंतजार है।

यह भी पढ़ें : बिजनौर कोर्ट में हत्या के मुद्दे पर चर्चा की मांग को लेकर विपक्ष का जोरदार हंगामा

यह भी पढ़ें : भाजपा विधायक का सदन में छलका दर्द, कहा- खुल कर कमीशन ले रहे अधिकारी

योगी ने कांग्रेस सदस्यों के काली पट्टी बांधकर सदन में आने पर कहा कि लोकतंत्र की आड़ में अराजकता नहीं फैला सकते हैं। काली पट्टी बांधकर हम सदन की अवमानना नहीं कर सकते। यह सदन किसी पार्टी का नहीं प्रदेश की 23 करोड़ जनता का है। बीजेपी की केंद्र और प्रदेश सरकार पूरी तरह सजग है। कोई भी अपराधी अपराध करके बच नहीं सकता है। अयोध्या का फैसला आया एक भी मच्छर नहीं मरा। उन्होंने कहा कि लोगों को भड़काने का प्रयास किया जा रहा। कांग्रेस पर सीएम योगी ने बड़ा हमला बोलते हुए कहा कि कत्लेआम कराने वाले उपदेश दे रहे। कांग्रेस ने सिखों का कत्लेआम कराया था। मुजफ्फरनगर में इन्होने क्या किया ये हमको सीख देंगे। 

सीएम योगी ने कहा कि भीमराव आंबेडकर के सपने को बीजेपी ने साकार किया है। हमने किसी मामले पर राजनीतिक रोटी नहीं सेकी। इनको दर्द है कि कश्मीर में विकास कैसे हो रहा। हमे सत्ता मिली तो हमने करके दिखाया। ये वह लोग है जो बोलते थे, राम जन्मभूमि पर फैसला नहीं आना चाहिए। 

उन्होंने कहा कि किसी घटना पर राजनीति नहीं करना चाहिए। हमे खुशी है विपक्ष के विधायक भी हमारे समर्थन में आए। उम्मीद करता हूं कि जल्द ही आप भी समर्थन में आएंगे। उन्होंने कहा कि अपने गुंडा राज को याद कीजिए। गुंडा कोई भी हो प्रशासन उसे बुरी तरह कुचलेगा। अपनी बात लोकतांत्रिक तरीके से रखिए। अराजकता को किसी तरीके से नहीं बख्शेंगे। आप जान लीजिए, गुंडों के समर्थक हम नहीं हैं। बेटी और बहनों की सुरक्षा को हम प्रतिबद्ध हैं। किसी को भी हम अराजकता फैलाने नहीं देंगे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस