लखनऊ, जेएनएन। UP Assembly By Election 2020: उत्तर प्रदेश में सात विधानसभा सीट के लिए तीन नवंबर को होने वाले मतदान के लिए अब 93 सूरमा मैदान में रह गए। सात सीटों पर 132 ने नामांकन कराया था, लेकिन 39 लोगों का नामांकन खारिज होने के बाद अब 93 बचे हैं। प्रत्याशियों के नाम वापसी का अंतिम दिन 19 अक्टूबर है। इसके बाद ही सही फीगर आने के बाद ही प्रदेश में चुनावी फीवर बढ़ेगा।

प्रदेश में विधानसभा की सात रिक्त सीटों के लिए हो रहे उपचुनाव में शनिवार को नामांकन पत्रों की जांच में 39 प्रत्याशियों के नामांकन खारिज हो गए। अब इन सात सीटों के लिए 93 उम्मीदवार मैदान में बचे हैं। अब इस उपचुनाव में प्रत्याशियों की असली तस्वीर सोमवार को नाम वापसी के बाद साफ होगी।

नामांंकन पत्रों की जांच में सबसे अधिक 13 नामांकन कानपुर की घाटमपुर सीट से खारिज हुए। अब यहां सिर्फ छह प्रत्याशी बचे हैं। देवरिया से भी सात प्रत्याशियों के नामांकन खारिज हो गए। यहां अब 14 उम्मीदवार मैदान में हैं। छह नामांकन अमरोहा की नौगवां सादात से निरस्त हुए। यहां अब 16 उम्मीदवार बचे हैं। उन्नाव की बांगरमऊ सीट से पांच व जौनपुर की मल्हनी सीट से चार नामांकन पत्र निरस्त हुए। बांगरमऊ से 10 व मल्हनी से 18 उम्मीदवार मैदान में डटे हैं। फीरोजाबाद की टूंडला सीट से भी चार नामांकन निरस्त हुए। यहां अब 10 उम्मीदवार बचे हैं। बुलंदशहर में सभी के नामांकन पत्र सही पाए गए। यहां किसी का भी पर्चा खारिज नहीं हुआ। यहां 19 प्रत्याशी चुनाव मैदान में है। सोमवार 19 अक्टूबर को नाम वापसी का अंतिम दिन है। इसके बाद उपचुनाव में प्रत्याशियों की सही संख्या पता चलेगी। तीन नवंबर को सुबह सात से शाम छह बजे तक मतदान होगा। 10 नवंबर को वोटों की गिनती कर परिणाम घोषित कर दिए जाएंगे। 

नौगावां सादात में सर्वाधिक 19 प्रत्याशी

विधानसभा उप चुनाव के लिए प्रदेश में 132 उम्मीदवारों ने नामांकन कराया ïथा। छह लोगों का नामांकन खारिज होने के बाद भी अमरोहा के नौगावां सादात में अब भी 19 प्रत्याशी मैदान में हैं। यह सीट चेतन चौहान के निधन से खाली हुई है और भाजपा ने यहां से उनकी पत्नी संगीता चौहान को मैदान में उतारा है। प्रदेश की घाटमपुर सीट मंत्री कमल रानी वरुण के से निधन के चलते रिक्त हुई जबकि टुंडला सीट प्रोफेसर एसपी सिंह बघेल के आगरा से सांसद बनने से रिक्त हुई है। दुष्कर्म के मामले में कुलदीप सिंह सेंगर को सजा सुनाये जाने के बाद उन्नाव की बांगरमऊ सीट रिक्त होने से उपचुनाव हो रहा है। इसके अलावा बुलंदशहर वीरेंद्र सिंह सिरोही, जौनपुर की सीट मल्हनी पारस नाथ यादव और देवरिया सीट जन्मेजय सिंह के निधन से रिक्त हुई हैं। उपचुनाव वाली सात सीटों में छह पर 2017 में भाजपा ने जीत दर्ज की थी जबकि मल्हनी सीट समाजवादी पार्टी के खाते में गई थी। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस