अलीगढ़ (जेएनएन)। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) में मंगलवार को हुए बवाल के बाद हालात खराब होते जा रहे हैं। छात्रों पर देशद्रोह का मुकदमा वापस लेने की मांग को लेकर गुरुवार को वीमेंस कॉलेज की छात्राओं ने प्रशासनिक भवन का गेट बंद कर कर्मचारियों को छह घंटे बंधक बनाया। विवाद के बाद से ही छात्र संघ की अगुवाई में बाबे सैयद पर धरना जारी रहा। धरने का दूसरे दिन था। वहीं एएमयू के सुरक्षाकर्मी ने भाजपा विधायक दलवीर सिंह के नाती व छात्र नेता अजयसिंह के खिलाफ और भाजपा नेता नितिश शर्मा ने एएमयू के सात छात्रों के खिलाफ मामला दर्ज कराया है।

अब तक दर्ज हुए चार मुकदमे

अब तक कुल चार मुकदमे दर्ज हो चुके हैं। दो मुकदमे भाजयुमो जिला अध्यक्ष व मीडिया कर्मी पूर्व में मामले दर्ज करा चुके हैं। 14 छात्रों पर देशद्रोह का मुकदमा वापस लेने, निलंबित चार छात्रों की बहाली की मांग को लेकर गुरुवार की शाम पांच बजे वीमेंस कॉलेज की छात्राओं ने प्रशासनिक भवन (रजिस्ट्रार कार्यालय) का मुख्य गेट बंद कर ताला लगा दिया। कुछ छात्राएं गेट के बाहर रहीं जबकि अधिकांश गेट के अंदर। तमाम कर्मचारी दीवार लांघकर भागे तो कुछ ने बैक डोर से निकलने का रास्ता खोजा। प्रॉक्टोरियल टीम ने छात्राओं को समझा कर रात 11 बजे बजे गेट खुलवाया।

 

बैक डोर से निकाले बैंक कर्मचारी 

प्रशासनिक भवन में केनरा बैंक व एसबीआइ की शाखा भी है। छात्राओं के गेट बंद करने के चलते बैंक स्टॉफ भी फंस गया। रात साढ़े आठ बजे बैंक स्टॉफ को प्रॉक्टोरियल टीम ने बैक डोर से बाहर निकाला। 

इंटरनेट सेवा बहाल 

जिला प्रशासन ने सोशल मीडिया पर अफवाहों पर अंकुश लगाने के लिए बुधवार से इंटरनेट सेवाएं बंद करा दी थीं। ये सेवा गुरुवार दोपहर ढाई बजे चालू हो सकी।

जुमा आज, प्रशासन अलर्ट

शुक्रवार को जुमे की नमाज को देखते हुए प्रशासन और अलर्ट हो गया है। महिला पुलिस की संख्या बढ़ाई जा रही हैं। एएमयू सर्किल पर मंगलवार हुए बवाल के बाद इंतजामिया ने भाजपा विधायक ठा. दलवीर सिंह के नाती व एलएलएम के छात्र अजय सिंह समेत आठ छात्रों को निलंबित किया है। इनमें अजय पक्ष से मनीष कुमार, अमन शर्मा व पवन जादौन शामिल हैं, जबकि दूसरे गुट से इमरान खान, अब्दुल माबूद, फरहान जुबैरी व आदिल खान हैं। छात्र संघ यूनियन इमरान खान, अब्दुल माबूद, फरहान जुबैरी व आदिल खान की बहाली को लेकर धरना-प्रदर्शन कर रहा है। वीमेंस कॉलेज व अन्य हॉस्टल की छात्राएं बुधवार को भी धरना स्थल पर पहुंची थीं। गुरुवार को तो उन्होंने प्रशासनिक भवन का गेट बंद कर इंतजामिया को हिला कर रख दिया। पूर्व छात्र संघ उपाध्यक्ष नदीम अंसारी ने भी नमाज के बाद एएमयू सर्किल पर पीएम मोदी व सीएम योगी का पुतला फूंकने का एलान किया है। कैंपस से बाहर माहौल खराब नहीं होने दिया जाएगा। इसे देखते हुए शुक्रवार को जुमे की नमाज को लेकर जिला प्रशासन अलर्ट हो गया है। अफसरों का साफ संदेश है कि कैंपस के अंदर छात्र धरना-प्रदर्शन करें। कैंपस से बाहर कुछ नहीं होने दिया जाएगा।

हट सकती है देशद्रोह की धारा

एएमयू 14 छात्रों पर दर्ज मुकदमे में से देशद्रोह की धारा हट सकती है। पुलिस को घटनाक्रम के जो वीडियो मिले हैं, उनकी प्राथमिक जांच में इसकी पुष्टि नहीं हुई है। पुलिस और वीडियो फुटेज जुटा रही है। भाजयुमो जिलाध्यक्ष मुकेश लोधी की तहरीर पर छात्रसंघ अध्यक्ष सलमान इम्तियाज समेत चौदह पर देश द्रोह का मुकदमा दर्ज कराया था।

धरने पर राजनेताओं की इंट्री शुरू

जिन्ना प्रकरण को लेकर दिए गए धरने की तरह बाबे सैयद पर चल रहे धरने में राजनेताओं की इंट्री शुरू हो गई है। गुरुवार को कांग्रेस के पूर्व सांसद चौ. बिजेंद्र सिंह ने छात्रों को संबोधित कर भाजपाइयों को  ललकारा। दिल्ली समेत अन्य शहरों से भी छात्र नेता आना शुरू हो गए हैं। मुस्लिम दलों के नेताओं को भी बुलाया जा रहा है। यही हाल रहा तो धरना जल्द खत्म होने वाला नहीं हैं।

घंटों बंधकबनाया, बटों से   पीटा फिर बनाई वीडियो

एएमयू मामले में अब नया विवाद सामने आया है। एएमयू के छात्र धीरज चौधरी ने आरोप लगाया है कि उसे घटना वाले दिन एएमयू छात्र रजिस्ट्रार कार्यालय में खींच कर ले गए थे। वहां तमंचों की बटों से पीटा और जबरन वीडियो तैयार कराया। छात्रों ने मोबाइल भी छीन लिया। किसी तरह पुलिस की मदद से बच सका।

बवाल के दौरान चोटिल छात्र नेता अजय सिंह वरुण ट्रामा में भर्ती हैं। गुरुवार को उन्होंने पत्रकारों को बातचीत के लिए बुलाया था। जहां धीरज चौधरी ने भी अपनी पीड़ा बयां की। एएमयू में वीवॉक प्रथम वर्ष के छात्र धीरज ने बताया कि घटना वाले दिन रजिस्ट्रार ऑफिस के बाहर से छात्र उसे खींचकर अंदर ले गए, जिनमें सलमान इम्तियाज, हुजैफा आमिर, नबील उस्मानी, जैद शेरवानी, आरिफ त्यागी आदि शामिल थे। सभी ने उसे पीटा, तमंचे की बट मारीं। सभी ने जबरन एक वीडियो तैयार कराया कि मैं अजय सिंह के कहने पर रजिस्ट्रार ऑफिस को तहस-नहस करने आया हूं । बयान बदलने पर जान से मारने की धमकी भी दी गई। पूर्व छात्र संघ सचिव नबील उस्मानी का कहना है कि धीरज झूठ बोल रहा है। मैंने उसे दीवार लांघकर प्रशासनिक भवन में कूदते देखा है। अंदर से रजिस्ट्रार कार्यालय का गेट भी तोड़ रहा था। पूछने बताया कि अजय सिंह ने भेजा था। उसे बचाकर रजिस्ट्रार कार्यालय के चैनल में अंदर बंद किया ताकि छात्र उसे मारें न। अब वह कह रहा है कि हॉल टिकट लेने गया था, अभी हॉल टिकट देने का समय ही नहीं हैं।

Posted By: Mukesh Chaturvedi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस