इटावा, जेएनएन। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव का समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के प्रति रुख अब काफी नरम हो गया है। इटावा के सिंचाई भवन में अपनी पार्टी की बैठक के दौरान शिवपाल सिंह यादव ने मीडिया से साफ कहा कि वह गठबंधन के मामले में सिर्फ समाजवादी पार्टी को वरीयता देंगे। वह अखिलेश यादव को एक बार फिर से उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री देखना चाहते हैं। प्रसपा प्रदेश भर में 22 को नेताजी मुलायम सिंह यादव का जन्मदिन मना रही है। इस मौके पर शिवपाल परिवार के सभी लोगों को आमंत्रित कर रहे हैं।

इटावा में शिवपाल सिंह यादव ने आज बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि वह और उनकी पार्टी बिना शर्त अखिलेश यादव से मिलने को तैयार है। उन्होंने कहा कि मेरी इच्छा एक बार फिर से अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री बनाने की है। हम इसके लिए समाजवादी पार्टी से बिना किसी शर्त के गठबंधन को तैयार हैं। विधानसभा चुनाव 2022 में भले ही कुछ भी हो, अखिलेश ही मुख्यमंत्री बनेंगे। शिवपाल यादव ने कहा कि सपा और प्रसपा एक हो जाए तो सरकार बना लेंगे। उन्होंने कहा कि भतीजा (अखिलेश यादव) समझ लेगा तो 2022 में सरकार बना लेंगे। शिवपाल ने कहा वे मुख्यमंत्री नहीं बनना चाहते। उनकी प्राथमिकता समाजवादी पार्टी है। मैंने बहुत लंबे समय तक नेताजी के साथ काम किया है। हमारी विचारधारा भी समाजवादी है। शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि अगर हमारी सपा से एकता हुई तो 2022 में उत्तर प्रदेश में सरकार बनेगी। हम तो सपा के साथ गठबंधन चाहते हैं।

प्रसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि परिवार में एकता के हिमायती हैं और चाहते हैं कि सभी लोग एक रहें। यह बात भतीजे यानी अखिलेश यादव को समझ में आ जाए तो 2022 में उत्तर प्रदेश में सरकार बन जाएगी। वह मुख्यमंत्री पद के दावेदार नहीं हैं। अगर सरकार बनती है तो अखिलेश यादव ही मुख्यमंत्री होंगे। उन्होंने फिर दोहराया कि एका न होने की स्थिति में 2022 विधानसभा चुनाव में गठबंधन के लिए उनकी प्राथमिकता समाजवादी पार्टी होगी। शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि वह समाजवादी पार्टी से गठबंधन को तैयार है। उन्होंने कहा कि अब अखिलेश को भी मान जाना चाहिये, क्योंकि कुछ भी हो मुख्यमंत्री तो अखिलेश ही बनेंगे। शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि मेरी तो कभी भी मुख्यमंत्री बनने की इच्छा नहीं थी। मैं कई बार कह चुका हूं मुझे मुख्यमंत्री नहीं बनना है। उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव मान जायेंगे तो 22 में सरकार भी बना लेंगे।

शिवपाल सिंह ने कहा कि 22 नवंबर को पूरे प्रदेश में प्रसपा नेता जी मुलायम सिंह यादव का जन्मदिन धूमधाम से मनाएगी। सैफई के मास्टर चंदगीराम स्टेडियम में एक बड़े दंगल का आयोजन किया जाएगा। जिसमें देश भर के पहलवान भाग लेंगे। यह पूछे जाने पर मुलायम सिंह यादव सैफई आएंगे इस पर शिवपाल सिंह ने कहा कि इस समय लोकसभा चल रही है। नेताजी दिल्ली में हैं, स्वास्थ्य कारणों से उनका आना मुश्किल है।

नाम बदलने से कोई भला होने वाला नहीं 

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार शहरों के नाम बदल रही है इससे कोई भला होने वाला नहीं है। जब तक विकास नहीं होगा और बेरोजगारी दूर नहीं की जाएगी तब तक जनता का भला नहीं होने वाला है। गोरखपुर, जौनपुर व अमेठी में अपराध की बड़ी घटनाएं हाल ही में घटी हैं। किसी भी सरकारी विभाग में भ्रष्टाचार के बगैर काम नहीं हो रहा है। पॉवर कारपोरेशन के कर्मचारियों की हड़ताल पर उन्होंने कहा कि भविष्य निधि घोटाले की सरकार को जांच कराई जानी चाहिए। यह पैसा कर्मचारियों को मिलना चाहिए यह सरकार सुनिश्चित करे। उन्होंने यह भी कहा कि यह धन सपा सरकार में नहीं दिया गया था बल्कि भाजपा सरकार बनने के बाद दिया गया है।

शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि 22 नवंबर को नेताजी (मुलायम सिंह यादव) का जन्मदिन है। सैफई में नेताजी के जन्मदिन पर परिवार को एकजुट होकर मनाना चाहिये। समाजवादी पार्टी  से अलग होकर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी का गठन करने वाले शिवपाल यादव ने एक बार फिर यादव कुनबे में एकता का राग अलापा है। शिवपाल यादव ने कहा कि नेताजी (मुलायम सिंह यादव) के जन्मदिन पर परिवार में एकता हो जाए तो अच्छा है। उन्होंने कहा कि उनकी कोशिश है कि परिवार में एकता हो।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस