ज्वालामुखी, प्रवीण कुमार शर्मा। नगर निकाय चुनाव के लिए तिथियां नजदीक आते ही नगर परिषद ज्वालामुखी में चुनावी माहौल चरम पर है। कांग्रेस और भाजपा दोनों ही अध्यक्ष पद पर कब्जा जमाने के लिए वार्डों में समर्थक उम्मीदवारों की जीत सुनिश्चित करने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगाए हुए हैं। पिछले 25 साल से ज्वालामुखी नगर परिषद का लेखा-जोखा देखें तो लगभग 23 साल तक कांग्रेस समर्थकों का ही अध्यक्ष पद की कुर्सी पर आधिपत्य रहा है। इस चुनाव में भी भाजपा के पास खोने को कुछ नहीं है। अध्यक्ष पद 20 साल बाद आरक्षण से मुक्त होने के चलते कांग्रेस में भी इस बार कई लोगों की हॉट सीट पर निगाहें हैं। कुर्सी के सबसे बड़े दावेदार आपस में ही एक ही चुनावी सीट से आमने सामने हैं। यहां वार्ड नंब चार से नगर परिषद के पूर्व उपाध्यक्ष सुखदेव शर्मा व पूर्व पूर्व उपाध्यक्ष अनीश सूद (बंटू) दोनों कांग्रेस से हैंं।

वार्ड नंबर पांच से बबली शर्मा, अनिलप्रभा शर्मा तथा मनीषा शर्मा आमने सामने हैं। यह तीनों महिलाएं नगर परिषद जवालामुखी के अध्यक्ष पद पर रह चुकी हैं। मनीषा भाजपा, बबली शर्मा कांग्रेस तो अनिल प्रभा शर्मा खुद को निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर प्रचारित कर चुनाव मैदान में हैं। वर्ष 2005 में अध्यक्ष पद ओपन होने के चलते पुजारी राजन शर्मा अकेले ऐसे पुरुष थे जो अध्यक्ष पद तक पहुंचे।

कुल सात वार्डों की स्थिति

जवालामुखी नगर परिषद में कुल सात वार्ड हैं। जिनमें से वार्ड नंबर एक महिला अनुसूचित जाति, वार्ड नंबर 5,6 महिला के लिए आरक्षित हैं। बाकि वार्ड अनारक्षित हैं।

3949 मतदाताओं के हाथ 21 उम्मीदवारों का राजनीतिक भविष्य

जवालमुखी नगर परिषद में कुल सात वार्डों से 21 उम्मीदवार चुनावी दंगल में हैं। यहां पर 2000 पुरूषों सहित 1949 महिलाएं अपने मताधिकार का प्रयोग करके प्रतिनिधि चुनेंगे।।

कहां कितने वोट....

नगर परिषद जवालमुखी में वार्ड नंबर एक में 798, दो में 351,तीन में689,चार में 554,पांच में 597,छह में525,सात में 435 मतदाता हैं।

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021