लखनऊ, जेएनएन। समाजवादी पार्टी (SP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष व यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सोमवार को नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (NRC) को लेकर भाजपा सरकार पर फिर हमला बोला। उन्होंने कहा कि भाजपा अंग्रेजों की तरह बांटों और राज करो की नीति पर काम कर रही है। धर्म के आधार पर लोगों को बांट रही है। पहले इस सरकार ने नोट के लिए लाइन में खड़ा किया, अब कागज के लिए खड़ा करने जा रही है। गांव में आमजन के पास घर के कागज नहीं हैं। आमजन छोड़िए राजा-महराजाओं के पास भी महलों के कागज नहीं हैं।

अखिलेश प्रदेश कार्यालय में बसपा सरकार में मंत्री रहे व पूर्व सांसद रामप्रसाद चौधरी के सपा में शामिल होने के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में बोल रहे थे। अखिलेश ने कहा कि जैसे-जैसे मौसम खुल रहा है, वैसे-वैसे पार्टी में गर्माहट देखने को मिल रही है। यह नया साल जरूर है, लेकिन हमारा नया साल तब आएगा जब प्रदेश में हमारी सरकार बनेगी।

अखिलेश ने कहा कि भाजपा सरकार ने किसानों को भरोसा दिलाया कि उनकी आय दोगुनी कर देंगे। किसानों ने इस भरोसे पर उत्तर प्रदेश के साथ ही दिल्ली में दोबारा सरकार बनवा दी। सरकार बनी, मुख्यमंत्री बने, लेकिन किसानों की आय दोगुना नहीं कर पाए। न तो सरकार सड़कें बना पाई और न मेडिकल कॉलेज। प्रदेश इस सयम क्राइम में नंबर वन है। खराब शिक्षा, बेरोजगारी व फेक एनकाउंटर में भी नंबर वन है। हमारे मुख्यमंत्री को पता ही नहीं नंबर वन कहां से आना है, ऊपर से या नीचे से।

अखिलेश ने कहा कि समाजवादियों ने लैपटॉप दिए जो आज भी चल रहे हैं। भाजपा ने शौचालय दिए जो बंद पड़े हैं। सीएए व एनआरसी पर कहा कि यह मुसलमानों के साथ ही गरीबों के भी खिलाफ है। जिस दिन जनगणना में जातियों की गिनती हो जाएगी उस दिन हिंदू-मुसलमान का झगड़ा खत्म हो जाएगा। किसी के साथ अन्याय नहीं होगा।

नाम बदलने के लिए मशहूर हैं योगी

अखिलेश ने कहा कि मुख्यमंत्री केवल नाम बदलने के लिए मशहूर हैं। अभी उन्होंने घाघरा नदी का नाम बदलकर सरयू कर दिया। इससे क्या होगा? यूपी 100 नंबर को बदलकर 112 कर दिया।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस