श्रीनगर, एएनआइ। पीडीपी नेता एसए बुखारी ने कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद को कहा है कि गुलाम नबी उस आरोप को साबित करें कि हम कांग्रेस सदस्यों को मिलाने की कोशिश कर रहे हैं।

जम्मू-कश्मीर में मोदी सरकार के मंत्रियों के दौरे के साथ ही पीडीपी नेता केंद्र के समर्थन में दिखने लगे हैं। पीडीपी नेता अल्ताफ बुखारी ने आर्टिकल 370 के अंत के बाद घाटी में हालातों को काबू रखने को लेकर केंद्र की तारीफ की। इतना ही नहीं, बुखारी ने कांग्रेस को आड़े हाथों भी लिया। जम्मू-कश्मीर के पूर्व मंत्री और पीपल्स डेमोक्रैटिक फ्रंट पीडीपी नेता एसए बुखारी ने कहा कि मैं राज्यसभा में विपक्ष के कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद को चुनौती देता हूं कि वह उस आरोप को साबित करें कि हम कांग्रेस सदस्यों को मिलाने की कोशिश कर रहे हैं।

बुखारी ने कहा यदि वह साबित कर देते हैं तो मैं राजनीति छोड़ दूंगा वरना उन्हें नैतिकता के आधार अपने पद छोड़ देने चाहिए। पीडीपी नेता एसए बुखारी ने कहा कि हम कोई भी पॉलिटिकल फ्रंट नहीं बना रहे हैं। हम विभिन्न राजनीतिक दलों के उन लोगों में हैं, जो राज्य की बहाली, राजनीतिक लोगों की रिहाई और पर्यटन के मुद्दों को उठा रहे हैं। गुलाम नबी आजाद को ऐसा क्यों लगता है कि किसी को भी इन मुद्दों को नहीं उठाना चाहिए।

बता दें कि शनिवार को पीडीपी के नेता अल्ताफ बुखारी ने कहा कि अनुच्छेद 370 के अंत के बाद जम्मू-कश्मीर में एक भी व्यक्ति की मौत नहीं हुई और हालात काबू में रहे। इस बात का श्रेय पीएम नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह एवं जम्मू-कश्मीर के लोगों को जाता है। मैं इसके लिए पीएम और गृहमंत्री को धन्यवाद देता हूं।  

कश्मीरी पंडितों का निष्कासन दिवस: 19 की खौफनाक रात सोने नहीं देती, कई बुजुर्ग तो घर वापसी की आस में चल बसे

Kashmir Situation: मौसम ने रोकी केंद्रीय मंत्रियों की राह, श्रीनगर से होकर पहुंचे जम्मू

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस