भुवनेश्वर, जासं। Ram Madhav In Odisha. नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर भ्रम व झूठ फैला कर विपक्षी पार्टियां देश में अस्थिरता की स्थिति व हिंसा करवाने की साजिश में लगे हैं। ये विपक्षी पार्टियों ने अपने झूठ व भ्रम से एक निर्विवादीय व भेदभावहीन अधिनियम को विवादीय व भेदभावपूर्ण के रूप में प्रचारित करना काम किया है। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव ने मंगलवार को पार्टी के प्रदेश कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में यह बात कही।

उन्होंने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून कोई नया अधिनियम नहीं हैं। यह केवल पुराने नियम में संशोधन मात्र है। इसमें केवल तीन पड़ोसी देशों के धार्मिक आधार पर उत्पीड़न के आधार पर आए शरणार्थियों को नागरिकता फास्ट ट्रैक तरीके से देने का प्रावधान है। वर्तमान में भी कोई भी भारत का नागरिकता प्राप्त कर सकता है, इसमें किसी प्रकार की कोई रोकथाम नहीं है।

भारत के शरणार्थियों को प्रति जो दृष्टि रही है और जो चरित्र है यह अधिनियम उसके आधार पर है, लेकिन कांग्रेस व अन्य विपक्षी पार्टियां इसके खिलाफ भ्रम फैलाने में जुटी हुई हैं। विपक्ष की पार्टियां इस तरह का झूठ प्रचार कर न केवल भारत को अस्थिर करने व हिंसा फैलाने की साजिश कर रहे हैं, बल्कि विदेशों में भी भारत को बदनाम करने का प्रयास कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि सीएए के विरोध से यह बात स्पष्ट हो गई है कि कांग्रेस व अन्य विरोधियों के पास नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ कोई मुद्दा नहीं है बल्कि वे हताश हैं। हताशा में वे पाकिस्तान के समर्थन में तर्क देने लगे हैं। पुलवामा के समय भी कांग्रेस व अन्य पार्टियों ने ऐसा ही किया था। हमले के बाद कुछ लोगों ने पाकिस्तान को क्लीन चिट देना शुरू कर दिया था। मुंबई हमले के बाद यही पार्टियां इसमें आरएसएस का हाथ होने की बात कह रही थी।

उन्होंने कहा कि अनुच्छेद 370 को हटाने से लेकर सीएए तक सभी मुद्दों पर भारत की जनता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ है। लोगों में जो झूठ व भ्रांति फैलाया जा रहा है, उसे दूर करने के लिए पार्टी ने बड़ा जनजागरण अभियान शुरू किया है। 

ओडिशा की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Kumar Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस