जयपुर, जागरण संवाददाता। राजस्थान में जोधपुर से लोकसभा चुनाव हार चुके मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के पुत्र वैभव गहलोत अब क्रिकेट की राजनीति में उतरेंगे। विधानसभा स्पीकर और राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी इस काम में वैभव गहलोत की मदद करेंगे। सीपी जोशी के सुझाव पर ही जोधपुर जिला क्रिकेट संघ को भंग कर एडहॉक कमेटी बनाई गई है। राज्य सरकार के सहकारिता विभाग ने इस बारे में एक दिन पहले ही आदेश जारी किया है। एडहॉक कमेटी का संयोजक राजस्थान रॉयल्स के उपाध्यक्ष राजीव खन्ना को बनाया गया है।

राजीव खन्ना जोधपुर के होने के साथ ही गहलोत परिवार के काफी निकट माने जाते हैं। राजीव खन्ना को एडहॉक कमेटी का संयोजक बनाने का मकसद वैभव गहलोत को जोधपुर जिला क्रिकेट संघ में पदाधिकारी बनाकर क्रिकेट की राजनीति में लाना और फिर राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन का अध्यक्ष बनाना है। डॉ. सीपी जोशी का कार्यकाल समाप्त होने के बाद वैभव गहलोत राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष बनेंगे।

इससे पहले विधानसभा का चुनाव हारे कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रामेश्वर डूडी ने भी नागौर जिला क्रिकेट संघ का अध्यक्ष बनकर राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन की राजनीति में आने की कोशिश की थी, लेकिन डॉ. जोशी ने उनके निर्वाचन को ही अवैध ठहरा दिया था। जोशी ने उनके नेतृत्व वाले नागौर जिला क्रिकेट संघ को मान्यता नहीं दी। इस बात को लेकर जोशी और डूडी के बीच नाराजगी भी बढ़ी है।

एक तरफ राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन के सचिव राजेंद्र सिंह नांदू ने डूडी के निर्वाचन को वैध बताया था। वहीं, दूसरी तरफ जोशी के खास संयुक्त सचिव महेंद्र नाहर ने डूडी के निर्वाचन को अवैध बताया था। डूडी और जोशी के बीच हुई नाराजगी का असर कांग्रेस की आंतरिक राजनीति पर भी पड़ा है।  

यह भी पढ़ेंः राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत अपने बेटे वैभव भी नहीं जिता पाए

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस