मुंबई, एएनआइ। Ram Mandir Bhumi Pujan: महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के प्रमुख राज ठाकरे ने मंगलवार को कहा कि अयोध्या में बुधवार को राम मंदिर का 'भूमि पूजन' है। इस दिन को इतिहास में स्वतंत्र भारत के सबसे शुभ दिनों में से एक माना जाएगा। मेरे विचार बाला साहेब ठाकरे के साथ हैं, उन्हें इस बात का गवाह होना चाहिए था।यह संघर्ष एक अथक कहानी रही है और न्यायिक लड़ाई हो या आम सहमति का माहौल हो, नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा किए गए प्रयास उल्लेखनीय रहे हैं और मैं उनका तहे दिल से शुक्रिया अदा करता हूं। इधर, श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य-दिव्य मंदिर निर्माण के लिए पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुरूप भूमि पूजन का तीन दिवसीय अनुष्ठान सोमवार सुबह नौ बजे शुरू हो गया। इसकी पूर्णाहुति पांच अगस्त  को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भूमि एवं शिलापूजन के साथ मंदिर की आधारशिला रखकर करेंगे।

तैयारियों का जायजा लेने आए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी अनुष्ठान में शामिल हुए। अनुष्ठान के शुभारंभ अवसर पर दिल्ली के आचार्य चंद्रभानु, अयोध्या के ही आचार्य इंद्रदेव एवं प्रयाग के आचार्य पंकज जैसे पारंगत वेदज्ञों के साथ 21 वैदिक आचार्यों ने पूजन किया। दिव्य मंत्रोच्चार से पांच एकड़ का संपूर्ण परिसर गूंज उठा। मंत्रोच्चार के साथ विधिवत कर्मकांड का क्रम घंटों तक चला। यजमान के रूप में दिल्ली निवासी कारोबारी महेश भाग्यचंद्र सपत्नीक मौजूद रहे। उन्होंने मंदिर निर्माण के लिए एक करोड़ 10 लाख रुपये दानस्वरूप ट्रस्ट को प्रदान किए हैं। पहले दिन के पूजन में विहिप के अंतरराष्ट्रीय संगठन मंत्री दिनेशचंद्र एवं श्री रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सदस्य तथा अयोध्या राजपरिवार के मुखिया विमलेंद्रमोहन मिश्र भी शामिल हुए। विमलेंद्रमोहन ने पहले भगवान राम की कुलदेवी बड़ी देवकाली एवं जानकी की कुलदेवी छोटी देवकाली का भी पूजन किया।

प्रधानमंत्री बुधवार को रामनगरी में दो घंटा 50 मिनट तक प्रवास करेंगे। उनका हेलीकाप्टर पूर्वाह्न 11:30 बजे ही राम जन्मभूमि परिसर से बमुश्किल पांच सौ मीटर दूर साकेत महाविद्यालय परिसर में बने हेलीपैड पर उतरेगा, पर प्रधानमंत्री पहले से ही तय 12:15 बजे पवित्र अभिजित मुहूर्त में आधारशिला रखेंगे। इसमें नौ ईंटों का प्रयोग किया जाएगा, जो चार दिशाओं, चार कोणों और स्थान देवता की परिचायक होंगी। इससे पूर्व करीब 10 मिनट तक प्रधानमंत्री रामजन्मभूमि, स्थान-वास्तु सहित आधारशिला में प्रयुक्त होने वाली ईंटों का पूजन करेंगे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस