लखनऊ, जेएनएन। नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के विरोध में केंद्र सरकार पर लगातार हमलावर कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव व पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका वाड्रा 10 जनवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में हमला बोलेंगी। प्रियंका यहां बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) के छात्रों और सिविल सोसाइटी के सदस्यों से मुलाकात करेंगी। वह सीएए के विरोध में जेल गए लोगों से भी मिलेंगी। पार्टी नेताओं ने राजनीतिक दृष्टि से बेहद अहम माने जा रहे इस वाराणसी दौरे की तैयारियां शुरू कर दी हैं।

प्रियंका वाड्रा उत्तर प्रदेश की राजनीति में लोकसभा चुनाव के समय से ही काफी सक्रिय हैं। वह उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ सरकार के खिलाफ भी लगातार मुखर हैं। सोनभद्र में 11 ग्रामीणों की हत्या का मामला हो या सीएए के विरोध करने वालों के खिलाफ कार्रवाई का। इन सभी मामलों में प्रियंका ने केंद्र व प्रदेश सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है।

प्रियंका लखनऊ व मुजफ्फरनगर में सीएए प्रदर्शनकारियों के घर जाकर उनके परिजनों से भी मुलाकात कर चुकी हैं। इसी क्रम में प्रियंका अब 10 जनवरी शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में सीएए के विरोध प्रदर्शन में जेल गए लोगों से सीधा संवाद करेंगी। इनमें दुधमुंही बच्ची चंपक की मां व समाजिक कार्यकर्ता एकता शेखर से भी मिलने का कार्यक्रम है। इनकी रिहाई के लिए प्रियंका ने सोशल मीडिया पर भी अवाज उठाई थी। प्रदर्शनकारियों के साथ ही प्रियंका बीएचयू छात्रों व शिक्षकों से मुलाकात करेंगी। कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता राजीव त्यागी ने बताया कि प्रियंका करीब 10 बजे वाराणसी पहुंचेंगी। वे करीब तीन घंटे वाराणसी में रहेंगी।

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस