जम्मू, राज्य ब्यूरो : राष्ट्रपति और देश की सशस्त्र सेनाओं के सुप्रीम कमांडर रामनाथ कोविंद कारगिल विजय दिवस पर 26 जुलाई को द्रास वार मेमोरियल में शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए लद्दाख व जम्मू कश्मीर के दौरे पर आ रहे हैं। हालांकि राष्ट्रपति के दौरे के लिए अभी तक कोई आधिकारिक शेड्यूल नहीं आया है। राष्ट्रपति अपने प्रस्तावित दौरे के दौरान कारगिल विजय दिवस पर शहीदों को श्रद्धांजलि देंगे। राष्ट्रपति वर्ष 2019 में खराब मौसम के कारण द्रास में कारगिल विजय दिवस के कार्यक्रम में हिस्सा नहीं ले पाए थे।

इस बार वह 22वें कारगिल विजय दिवस के कार्यक्रम में शामिल होने के बाद 27 जुलाई को कश्मीर विश्वविद्यालय के 19वें दीक्षांत समारोह में भी हिस्सा लेंगे। जमीनी सतह पर 25 जुलाई को शुरू हो रहे राष्ट्रपति के तीन दिवसीय दौरे को सुरक्षित बनाने के लिए लद्दाख व कश्मीर में तैयारियां तेज हो गई हैं। जम्मू-कश्मीर पुलिस की सुरक्षा शाखा के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक एसडी सिंह जम्वाल ने दौरे तक पुलिस कर्मियों के छुट्टी जाने पर रोक लगाने का आदेश जारी किया है। ऐसे में अगले कुछ दिनों में राष्ट्रपति दौरे को लेकर अधिकारिक शेड्यूल आ जाएगा।

कश्मीर विश्वविद्यालय का 19वां दीक्षांत समारोह 27 जुलाई को होना है। करीब नौ साल बाद दीक्षांत समारोह होने जा रहा है। कश्मीर विश्वविद्यालय का 18वां दीक्षांत समारोह 27 सितंबर, 2012 को हुआ था। इस समय श्रीनगर के शेर-ए-कश्मीर इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर में दीक्षांत समारोह की तैयारियां चल रही हैं। राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द इसमें मुख्य अतिथि होंगे। विश्वविद्यालय के वीसी प्रो. तलत अहमद का कहना है कि दीक्षांत समारोह की प्रस्तावित तिथि 27 जुलाई है। विश्वविद्यालय तैयारियों में जुटा है।

एक दो दिन में विद्यार्थियों के मैडल, मुख्य अतिथि संबंधी सारी चीजें फाइनल हो जाएगी। इसी बीच विश्वविद्यालय अगस्त में विशेष दीक्षांत समारोह आयोजित करने की तैयारी में है। पीएचडी, एमफिल विद्यार्थियों को डिग्रियां प्रदान की जाएगी और पोस्ट ग्रेजुएट व अंडर ग्रेजुएट कोर्स के विद्यार्थियों को मेडल दिए जाएंगे। विद्यार्थियों से आनलाइन फार्म भरने के लिए कहा गया है और 23 जुलाई से पहले आवेदन फार्म जमा करवाने है। सितंबर 2012 के बाद पास आउट हुए विद्यार्थी आवेदन कर सकते हैं।