पटना [जेएनएन]। बिहार में प्‍याज (Onion) का दाम सौ रुपये के पार चला गया है। इसके साथ ही बिहार में गरमा गई है राजनीति। कर दी। जन अधिकार पार्टी (JAP) सुप्रीमो पप्‍पू यादव (Pappu Yadav) ने सस्‍ते दर पर प्‍याज बेचना शुरू किया तो भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने इसे नौटंकी बताया। उधर, हिंदुस्‍तानी अवाम मोर्चा (HAM) ने कहा कि जब-जब बीजेपी की सरकार बनी है, राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ (RSS) के दबाव में कालाबाजारी (Black Marketing) बढ़ी है।

प्‍याज की महंगाई का आम आदमी भी अपने तरीके से विरोध कर रहा है। हाल ही में मुजफ्फरपुर में इसे को महंगाई का देवता (God of Inflation) बनाकर इसकी पूजा की गई।

छह महीने में 18 से सौ तक पहुंची कीमत

बिहार में प्‍याज के दाम छह महीने के भीतर 18 रुपये से सौ रूपये तक पहुंच गया है। जुलाई में इसकी कीमत 18 रुपये के आसपास थी, जो दिसंबर आते-आते सौ रुपये हो गई है। इससे आम जनता परेशान है।

संसद-विधानसभा में गूंजा यह मामला

प्‍याज पर सियासत भी अनलिमिटेड हाे रही है। हाल ही में बिहार विधानसभा (Bihar Assembly) के शीतकालीन सत्र (Winter Session) के दौरान प्‍याज के बढ़े दाम गूंजे थे। प्‍याज केवल बिहार में ही नहीं, बल्कि पूरे देश में महंगा हुआ है। इस समस्‍या पर संसद (Parliament) में भी इसपर चर्चा हुई है। गूंजा है। खाद्य व आपूर्ति मंत्री रामविलास पासवान (Ram Vilas Paswan) ने आश्‍वासन दिया है कि जल्‍द ही सस्‍ते प्‍याज का आयात किया जाएगा।

पप्‍पू ने बेचा प्‍याज, बीजेपी ने बताया नौटंकी

प्‍याज के दाम बढ़ने पर 'बिस्‍कोमान' ने पटना में बाजार से आधे दाम पर इसकी बिक्री शुरू की तो भीड़ उमड़ पड़ी। इस दौरान कानून-व्‍यवस्‍था (Law and Order) की समस्‍या उत्‍पन्‍न होने पर बिस्‍कोमान (BISCOMAUN)  ने सुरक्षा कारणों का हवाला देकर बिक्री बंद कर दी। फिर, जन अधिकार पार्टी सुप्रीमो पप्‍पू यादव ने सस्‍ते दर पर प्‍याज बेचना शुरू कर दिया। बीजेपी ने इसे नौटंकी बताया। उधर, 'हम' ने कहा कि जब-जब बीजेपी की सरकार बनी है, आरएसएस के दबाव में कालाबाजरी बढ़ी है।

'झारखंड में बीजेपी रोएगी प्याज के आंसू: हम

प्याज के आसमान छूते दाम को लेकर 'हम' ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार (Narendra Modi Government) पर हमला बोला। हम के राष्ट्रीय प्रवक्ता दानिश रिजवान ने कहा कि मोदी सरकार प्याज के दाम में वृद्धि की आड़ में कुछ खास लोगों को आर्थिक मदद पहुंचा रही है। इस कारा आम जनता त्रस्त है। उन्होंने कहा कि सरकार ने गरीबों के मुंह से निवाला छीन लिया है।  यदि प्याज की कीमतें ऐसी ही रहीं तो झारखंड के चुनाव में बीजेपी को प्याज के आंसू रोने होंगे।

'हम' प्रवक्‍ता विजय यादव ने आरोप लगाया कि जो प्‍याज 'बिस्‍कोमान' ने पटना में दिया, वह गरीबों को नहीं मिला। वैसे भी पटना से पूरा बिहार नहीं चलता है।

पप्‍पू बोले: सरकार का कोई जन-सरोकार नहीं

पप्‍पू यादव ने बीजेपी कार्यालय व बीजेपी नेता व उपमुख्‍यमंत्री सुशील मोदी (Sushil Modi) के आवास के समाने 30 रुपये किलो के भाव से प्याज बेचा। इस दौरान उन्होंने केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitaraman) पर भी हमला बोला और कहा कि यदि वे प्याज नहीं खातीं तो इसका मतलब यह नहीं कि पूरा देश इसे नहीं खाता। सरकार का कोई जन सरोकार नहीं रहा, जिस कारण देश में 32 हजार टन प्याज सड़ गया। इस दौरान पप्पू यादव ने एलान किया कि छात्रों और गरीबों के घर में शादी-विवाह होने की स्थिति में वे 25 रुपये किलो की दर से प्याज उपलब्ध कराएंगे।

कांग्रेस-आरजेडी ने भी सरकार को बताया जिम्‍मेदार

कांग्रेस (Congress) के राजेश राठौड़ (Rajesh Rathod) ने प्‍याज की महंगाई के लिए बीजेपी की नासमझी को जिम्‍मेदार बताया। उधर, राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) विधायक विजय प्रकाश (Vijay Prakash) ने भी कहा कि इस समस्‍या का सरकार पर फोड़ा।

सुरक्षा मिले तो फिर सस्‍ता प्‍याज बेचेंगा 'बिस्‍कोमान'

बिस्‍कोमान के अध्‍यक्ष सुनील सिंह ने कहा कि अगर प्रशासन सुरक्षा दे तो वे फिर बाजार मूल्‍य से आधे मूल्‍य पर प्‍याज उपलब्‍ध करा सकते हैं।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस