लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश सरकार के सोमवार को लखनऊ के साथ गौतमबुद्धनगर में पुलिस कमिश्नर नियुक्त करने के फैसले को जमकर सराहा जा रहा है। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य तथा कैबिनेट मंत्री श्रीकांत शर्मा ने योगी आदित्यनाथ सरकार के फैसले को काफी बड़ा व सराहनीय बताया है।

लोकभवन में कैबिनेट बैठक से बाहर आने के बाद केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि सरकार का पुलिस कमिश्नर तैनात करने का फैसला मील का पत्थर साबित होगा। हमको पूरा भरोसा है कि लखनऊ के साथ गौतमबुद्धनगर में पुलिस कमिश्नर तैनात होने के बाद जनता और अधिक सुरक्षित महसूस करेगी। सरकार की प्राथमिकता प्रदेश की 23 करोड़ जनता की सुरक्षा की है। इसके लिए हमसे जितना बेहतर बन पड़ेगा करेंगे।

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में लम्बे समय से यह फैसला बहुप्रतीक्षित था। किसी भी सरकार ने इसको लागू करने की हिम्मत नहीं दिखाई। यह तो मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की दृढ़इच्छाशक्ति का परिणाम है कि उत्तर प्रदेश में भी पुलिस कमिश्नर प्रणाली को लागू किया गया है। यह सरकार कम समय में बड़े तथा कड़े निर्णय के जानी जाएगी। उन्होंने कहा कि लखनऊ व गौतमबुद्धनगर में पुलिस कमिश्नर नियुक्त होने से निश्चित ही लोगों को बड़ी सुविधा मिलेगी और पुलिस का भी मनोबल काफी बढ़ेगा।

अब नहीं चलेगा कोई बहाना

प्रदेश के ऊर्जा मंत्री तथा सरकार के प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा ने कहा कि पुलिस कमिश्नर सिस्टम लागू होने से पुलिस के पास काफी कम समय में बड़ा काम करने का मौका है। अब तो पुलिस की जिम्मेदारी तय होगी। इनका कोई बहाना नहीं चलेगा। श्रीकांत शर्मा ने कहा कि कमिश्नर प्रणाली लागू होने से आईएएस अधिकारियों के अधिकारों में कोई कटौती नहीं की गई है। अब तो सिर्फ पुलिस की जवाबदेही तय की गई है। अब कोई बहाना नहीं चलेगा। इस सिस्टम के लागू होने से जल्द ही इसके सकारात्मक परिणाम नजर आएंगे। श्रीकांत शर्मा ने कहा कि यह फैसला बहुत पहले हो जाना चाहिए था, लेकिन राजनैतिक इच्छाशक्ति की कमी की वजह से नहीं हो पाया। हमारी सरकार ने यह साहसी कदम उठाया है।

Posted By: Dharmendra Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस