पटना [जेएनएन]। जन अधिकार पार्टी (JAP) के राष्ट्रीय अध्येक्ष और पूर्व सांसद पप्पू यादव (Pappu Yadav) ने हैदराबाद दुष्‍कर्म व हत्‍याकांड (Hyderabad Case) के आरोपितों के एनकाउंटर (Encounter) को लेकर बड़ी बात कही है। उन्‍होंने एनकाउंटर टीम में शामिल सभी पुलिसकर्मियों को 50 हजार रूपये का इनाम देने की घोषणा की है। साथ ही कहा है कि बिहार में भी दुष्‍कर्मियों को गोली मार देनी चाहिए। उन्‍होंने ऐसा करने वाले को पांच लाख रुपये इनाम देने की घोषणा की है।

विदित हो कि शुक्रवार सुबह से ठीक पहले हैदराबाद में लेडी डॉक्‍टर की दुष्‍कर्म के बाद हत्‍या कर उसे जला देने के सभी चार गिरफ्तार आरोपितों को पुलिस अनुसंधान के क्रम में घटनास्‍थल पर ले गई थी। वहां उन्‍होंने पुलिस पर हमला कर भागने की कोशिश की। जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने उन्‍हें मार गिराया। इस घटना पर जमकर प्रतिक्रियाएं आ रही हैं। विभिन्‍न राजनीतिक दलों ने पुलिस कार्रवाई का समर्थन किया है। जन अधिकार पाटी सुप्रीमो पप्‍पू यादव भी उनमें शामिल हैं।

हैदराबाद पुलिस ने देश के सामने रखी नजीर

हैदराबाद एनकाउंटर पर पप्‍पू यादव ने कहा कि पुलिस ने देश के सामने एक नजीर पेश किया है। उन्होंने कहा कि देश में एक साल के दौरान करीब दो लाख दुष्‍कर्म हुए हैं, जिनमें करीब 35 हजार मामलों में ही सही अनुसंधान हो पाया। उन्होंने कहा कि बिहार के बक्सर, समस्तीडपुर व राजगीर में भी हैदराबाद जैसे जघन्‍य दुष्‍कर्म व हत्‍याकांड हुए हैं। इन मामलों में भी आरोपितों को गोली मार देनी चाहिए। उन्‍होंने ऐसा करने वालों को पांच-पांच लाख रूपये इनाम देने की भी घोषणा की।

पप्पू यादव ने कहा कि वे हैदराबाद कांड में एनकांउटर कर दरिंदों को ढ़ेर करने वाले पुलिसकर्मियों को 50-50 हजार रुपये का ईनाम भेज रहे हैं।

कहा: सेंगर व चिन्‍म्‍यानंद को भी मिले सजा

पप्‍पू यादव ने उत्तर प्रदेश (UP) के मुख्यमंत्री (Chief Minister) योगी आदित्यनाथ (Yogi Aditya Nath) को इस मुद्दे पर घेरा। उन्‍होंने पूछा कि क्‍या यूपी पुलिस भी दुष्‍कर्म के आरोपित बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर (Kuldeep Singh Senger) और पूर्व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री स्वामी चिन्मयानंद (Swami Chinmayanand) के खिलाफ भी हैदराबाद कांड के आरोपितों की तरह सजा देगी?

देश में बाबाओं व नेताओं पर चल रहे कई मामले

पप्‍पू यादव ने कहा कि देश में बाबाओं व नेताओं पर ऐसे कई मामले चल रहे हैं। ऐसे मामलों में 10 साल तक स्पीडी ट्रायल नहीं हो पाता। एमएलए-एमपी गंदगी के इस रैकेट में फंसे हैं। दुष्‍कर्म के सजायाफ्ता राजबल्लभ यादव (Rahj Ballabh Yadav) की पत्नी को राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) चुनाव का टिकट दे देता है। आरजेडी विधायक अरुण यादव (Arun Yadav) को पार्टी से नहीं निकाला जाता है। आखिर राजनीतिक पार्टियां कब तक लोगों को टिकट देंगी। इन लोगों का एनकाउंटर कब होगा?  

Posted By: Amit Alok

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस