जम्मू, जेएनएन। नेशनल कांफ्रेंस के उपप्रधान उमर अब्दुल्ला केंद्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर की सरकार से आज यानि रविवार को बेहद खफा नजर आए। उमर ने ट्वीट किया कि हमें बिना किसी कारण अपने घरों में नजरबंद कर दिया गया है। वह इससे काफी आहत हुए हैं। उन्हें बहुत बुरा लग रहा है कि उनके पिता एवं सांसद डॉ. फारूक अब्दुल्ला, मेरी बहन और उनके बच्चों को बिना किसी कारण अपने ही घर में नजरबंद कर दिया है। उमर ने ट्वीट करते हुए तंज कसा कि यह है अगस्त 2019 के बाद का नया जम्मू-कश्मीर। 

उमर ने ट्वीट करते हुए यह भी कहा कि, 'चलो, आपके लोकतंत्र के नए मॉडल का अर्थ है कि हम अपने घरों में ही बिना किसी कारण नजरबंद रहें। मगर घर पर जो कर्मचारी काम पर हैं, उन्हें तो कम से कम बाहर जाने की अनुमति होनी चाहिए'। प्रशासन की ओर से उमर अब्दुल्ला, फारूक अब्दुल्ला सहित उनके परिवार के अन्य सदस्यों के घर के बाहर सुरक्षाबलों को तैनात कर दिया गया है।  उमर अब्दुल्ला ने अपने घर के बाहर तैनात सुरक्षा एजेंसियों के वाहनों की तैनाती की फोटो भी ट्वीटर पर सांझा की हैं।

गौरतलब है कि गत 13 फरवरी को पीडीपी की प्रधान महबूबा मुफ्ती ने प्रशासन पर उन्हें नजरबंद करने का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा था कि वह पुलवामा जाना चाहती थी मगर उन्हें उनके ही घर से निकलने नहीं दिया गया।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021