अमृतसर, जेएनएन। पंजाब के मुख्‍यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के बीच खींचतान में डॉ नवजोत कौर सिद्धू भी आ गई हैं। सिद्धू के बाद अब उनकी पत्‍नी डॉ. नवजोत कौर ने भी बागी तेवर दिखाए हैं और कैप्‍टन अमरिंदर सिंह पर सीधा हमला बोल दिया है। उन्‍होंने अमरिंदर को अपना नेता मानने से इन्‍कार कर‍ दिया है। डॉ. नवजोत कौर ने कहा है कि कैप्‍टन अमरिंदर सिंह हमारे कैप्‍टन नहीं हैं। हमारे कैप्‍टन तो बस राहुल गांधी है।

डाॅ. नवजोत कौर ने कहा- अबस राहुल गांधी हमारे लिए कैप्टन हैं

डॉ. नवजोत कौर सिद्धू यहां कैप्‍टन अमरिंदर सिंह पर सीधे हमलावर नजर आईं। उन्‍होंने इशारोें में कैप्‍टन के कामकाज पर भी सवाल उठाया और नवजाेत सिंह सिद्धू को लेकर उनके रुख पर सवाल भी उठाया। डाॅ नवजोत कौर ने कैप्‍टन अमरिंदर सिंह को अपना नेता मानने से भी इन्‍कार किया। उन्‍होंने साफ कहा कि कैप्‍टन अमरिंदर सिंह उनके कैप्‍टन कतई नहीं हैं। उनके कैप्टन तो राहुल गांधी हैं। उन्‍होंने कहा, 'राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा ही हमें कांग्रेस में लाए थे, इसलिए उनके सिवाय और कोई हमारा कैप्टन नहीं हो सकता।'

नवजोत कौर सिद्धू ने कैप्‍टन अमरिंदर सिंह पर हमल करते हुए कहा कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के पंजाब में सभी 13 सीटें न जीत पाने के लिए कार्यकर्ताओं की नाराजगी बड़ा कारण है। लोकसभा चुनाव के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह द्वारा बुलाई गई चुनाव रिव्यू मीटिंग में नवजोत सिंह सिद्धू के शामिल न होने के सवाल पर नवजोत कौर ने कहा कि उन्हें बैठक में बुलाया ही नहीं गया था। बिना बुलाए हम वहां कैसे जा सकते थे।

नवजोत कौर ने कहा कि सिद्धू ने अपना रिपोर्ट कार्ड सार्वजनिक किया है। पंजाब के बाकी मंत्री व विधायक भी ढाई साल में किए गए कार्यों की रिपोर्ट प्रस्तुत करें। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह इनसे रिपोर्ट कार्ड मांगें, ताकि वाकई पंजाब का सुधार हो सके।

यह भी पढ़ें: बागी तेवर संग नवजोत सिद्धू का दर्द भी आया सामने, गुरू ने कही अब ऐसी बातें

नवजोत कौर ने कहा कि पंजाब में नशे की गिरफ्त में फंसे नौजवान फौज में भर्ती नहीं हो पा रहे। नशे के खात्मे के लिए यदि कैप्टन अमरिंदर सिंह ने केंद्र सरकार से मदद मांगी है तो इसमें हर्ज नहीं। एक सवाल के जवाब में नवजोत कौर ने कहा कि चार सप्ताह में नशा खत्म करने की कसम खाने वाले कैप्टन ही यह बता सकते हैं कि ऐसा क्यों नहीं हुआ।

बता दें कि इससे पहले नवजोत सिंह सिद्धू ने भी कैप्‍टन अमरिंदर सिंह को अपना कैप्‍टन मानने से इन्‍कार किया था। पिछले साल पांच राज्‍यों के विधानसभा चुनावों के दौरान तेलंगाना में एक प्रेस कान्‍फेंस में सिद्धू ने साफ कहा था- 'कैप्‍टन, कौन कैप्‍टन, ओ कैप्‍टन अमरिंदर सिंह। वह तो सेना के कैप्‍टन थे। मेरे कैप्‍टन तो राहुल गांधी हैं। मेरे कैप्‍टन भी राहुल गांधी और कैप्‍टन अमरिंदर के कैप्‍टन भी राहुल गांधी हैं।'

यह भी पढ़ें: गर्मी से परेशान Pitbull ने नोच डाला अपनी ही मालकिन का मुंह, पड़ गए जान के लाले

इसके बाद कांग्रेस में काफी हंगामा मच गया था और सिद्धू पंजाब कांग्रेस में निशाने पर आ गए थे। बाद में उन्‍होंने कैप्‍टन अमरिंदर से मांगी थी और उनको पिता तुल्‍य बताया था। हालांकि इसके बाद भी कई बार नवजोत सिद्धू ने कैप्‍टन अमरिंदर सिंह पर हमला किया। पुलवामा आतंकी हमले और पाकिस्‍तान में वायुसेना द्वारा एयर स्‍ट्राइक करने के मामले में भी सिद्धू और कैप्‍टन अमरिंदर के मतभेद सामने आए थे। दोनों ओर से खूब बयानबाजी हुई।

इसके बाद अब लोकसभा चुनाव के दौरान सिद्धू और कैप्‍टन अमरिंदर खुलेआम आमने-सामने आ गए हैं। पंजाब में लोकसभा चुनाव के लिए मतदान से पहले प्रचार के अंतिम दिन सिद्धू ने कांग्रेस की रैली मे ही अपने मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह पर हमला बोज दिया। उन्होंने श्री गुरुग्रंथ साहिब की बेदअदबी नशे के मुद्दे पर  कैप्‍टन अमरिंदर सिंह और पूर्व मुख्‍यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के बीच मिलीभगत का आरोप भी लगा दिया। इसके बाद कैप्‍टन ने भी सिद्धू पर सीधा हमला किया।

 हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sunil Kumar Jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!