गाजियाबाद, जेएनएन। 14 वर्षीय एक किशोरी को भगाकर ले जाने के मामले में पुलिस ने आरोपित युवक को गिरफ्तार कर लिया है। एक सप्ताह पूर्व किशोरी के परिजन ने कोतवाली थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस गिरफ्त में आरोपित ने खुद को समाजवादी पार्टी (सपा) नेता बताया, लेकिन सपा जिलाध्यक्ष के मुताबिक उस युवक का पार्टी से कोई संबंध नहीं है। अपने ठिगने कद के लिए पहचाने जाने वाले आरोपित युवक के खिलाफ पुलिस ने पॉक्सो एक्ट के तहत भी मुकदमा दर्ज किया है। बता दें कि अपनी बेहद छोटी लंबाई के चलते मासूम सा दिखता है।

कोतवाली थानाक्षेत्र निवासी एक व्यक्ति ने एक सप्ताह पहले शिकायत की थी कि उनकी 14 वर्षीय पुत्री को पतला निवासी निशांत ठाकुर बहला-फुसलाकर ले गया है। पीड़ित की तहरीर पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया था और जांच में जुटी थी।

बृहस्पतिवार को कोतवाली पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया और वहीं किशोरी को भी बरामद किया। पतला निवासी निशांत ठाकुर किशोरी को शादी का झांसा देकर ले गया था। निशांत मोदीनगर में प्रॉपर्टी खरीदने-बेचने का काम करता है। कोतवाली इंस्पेक्टर जयकरन सिंह ने बताया कि एक सप्ताह पूर्व परिजनों ने शिकायत दी थी।

बृहस्पतिवार सुबह को उसे गिरफ्तार किया गया है। पाक्सो एक्ट भी लगाया गया है। वायरल तस्वीर में पूर्व मुख्यमंत्री के साथ पुलिस गिरफ्त में आरोपित निशांत ने खुद को सपा का नेता बताया।

आरोपित की गिरफ्तारी के बाद सोशल मीडिया पर उसकी एक तस्वीर वायरल हुई, जिसमें वह पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के साथ दिख रहा है।

वहीं, सपा जिलाध्यक्ष सुरेंद्र कुमार मुन्नी का कहना है कि आरोपित का पार्टी से कोई संबंध नहीं है। निशांत ठाकुर का सपा पार्टी से कोई लेना-देना नहीं है और न ही यह पार्टी का प्राथमिक सदस्य है और न ही कोई पदाधिकारी है। अखिलेश यादव आम आदमी से हमेशा मिलते रहते हैं। सिर्फ फोटो खिंचवा लेने से कोई सदस्य नहीं बनता है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस