नई दिल्ली, जागरण संवाददाता।  नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) पर मुस्लिम धर्म गुरुओं को जागरूक करने के लिए आयोजित मुस्लिम राष्ट्रीय मंच (एमआरएम) की कांफ्रेंस में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के वरिष्ठ प्रचारक इंद्रेश कुमार पर हमले की कोशिश हुई है। बतौर वक्ता इंद्रेश जैसे ही मंच पर पहुंचे, नौ लोग 'नो सीएए और नो एनआरसी' लिखे कागज लहराते हुए मंच की ओर बढ़ने की कोशिश करने लगे। हालांकि वहां मौजूद लोगों और सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें रोक लिया। इस दौरान हल्की धक्कामुक्की भी हुई। बाद में इनमें से कुछ को हिरासत में लेकर पुलिस संसद मार्ग थाना ले गई। आयोजकों और विहिप ने दावा किया कि यह इंद्रेश पर प्रायोजित हमला था जो कांग्रेस और उसकी बी टीम जैसी पार्टियों के इशारे पर था।

 कांस्टीट्यूशन क्लब में आयोजित की गई कांफ्रेंस

जमात उलेमा के अध्यक्ष सुहैब कासमी के नेतृत्व में कांस्टीट्यूशन क्लब में आयोजित कांफ्रेंस में कई राज्यों से 100 से अधिक लोग शामिल हुए, जिसमें धर्म गुरुओं के साथ शिक्षाविद् व मुस्लिम महिलाएं भी थीं। अपने संबोधन में इंद्रेश कुमार ने विरोध करने वालों के लिए सद्बुद्धि की कामना करते हुए कहा कि उन पर हमला नहीं हुआ है। यह महज विरोध था। इनमें से एक को वह पहचानते भी हैं, लेकिन उसका नाम नहीं बताएंगे, क्योंकि कोई कार्रवाई नहीं चाहते हैं।

उन्होंने कहा कि यह कानून किसी की नागरिकता लेने वाला या नागरिकता लेने में अवरोध पैदा करने वाला नहीं है। यह नागरिकता देने वाला है। विश्व के 137 देशों में भारतीय रहते हैं। वह वहां के नागरिक एक मानक के तहत बने हैं। कोई अपने घर में किसी की घुसपैठ नहीं चाहता। उन्होंने कहा कि मस्जिद साझी हो सकती है, घर साझा नहीं हो सकता है। बहुत सारे मुल्कों में मुस्लिम रहते हैं। वह वहां के राष्ट्रगीत, कानून और झंडे से प्यार करते हैं। उन्हें कोई परेशानी नहीं आती। यहीं पर क्यों दिक्कत आती है।

चुनाव के कारण हो रहा है विरोध-प्रदर्शन : विहिप

विहिप कार्याध्यक्ष आलोक कुमार ने दावा किया कि दिल्ली में विधानसभा चुनाव के कारण विरोध-प्रदर्शन हो रहे हैं। इसके पीछे कांग्रेस और आम आदमी पार्टी हैं। इन प्रदर्शनों के सहारे दोनों दल सांप्रदायिक गोलबंदी का प्रयास कर रहे हैं। कांफ्रेंस में किछौछा शरीफ से मौलाना इरफान, शिया आलिम कौकब मुस्तबा, मेरठ से कारी मुजिब, बिजनौर से मौलाना जलील चिश्ती, मुंबई से मौलाना अहमद हसन व भोपाल से मौलाना नुरुउल्लाह समेत अन्य राज्यों से भी धार्मिक गुरु पहुंचे थे। उन्होंने बताया कि देशभर में 2000 से अधिक स्थानों पर एमआरएम द्वारा जागरूकता अभियान चलाया जाएगा।

 

Posted By: Arun Kumar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस