नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्‍क। अनधिकृत कॉलोनियों को लेकर दिल्ली की सियासत गरम है। सत्ता और विपक्ष आरोप-प्रत्यारोप से चूक नहीं रहे। सियासी तपन सोमवार से शुरू हो रहे विधानसभा सत्र को भी प्रभावित कर सकती है। नेता प्रतिपक्ष विजेंद्र गुप्ता ने तो इसके संकेत भी दिए हैं। उनका कहना है कि मकानों की रजिस्ट्री के लिए अतिरिक्त व्यवस्था करने की घोषणा अभी तक पूरी नहीं हुई है। दिल्ली के लोग परेशान हैं। इस मामले को विधानसभा में उठाएंगे।

सीएम पर गलत बयान देने का आरोप

प्रतिपक्ष नेता ने सीएम पर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली विधानसभा का सत्र सोमवार से शुरू हो रहा है। अनधिकृत कॉलोनियों को लेकर मुख्यमंत्री रोज गलत बयानबाजी कर रहे हैं। भाजपा इस मुद्दे पर सदन में चर्चा की मांग करेगी। यह मामला 40 लाख लोगों से जुड़ा है। केजरीवाल सरकार इस मुद्दे पर विपक्ष को अपना पक्ष रखने दें। सीएम केजरीवाल कह रहे हैं कि लोगों को रजिस्ट्री मिलेगी तब वह मानेंगे कि कॉलोनियों का नियमितीकरण हुआ है। सदन में भाजपा इसी मुद्दे पर बात करना चाहती है।

रोजाना 100 रजिस्ट्री

उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार की व्यवस्था ठीक नहीं। वर्तमान में रोजाना 100 रजिस्ट्री होती है। दिल्ली सरकार ने अनधिकृत कॉलोनियों में रहने वालों के मकान की रजिस्ट्री की अतिरिक्त व्यवस्था की घोषणा की थी, लेकिन आजतक इसे लेकर कोई कदम नहीं उठाया गया है। सदन में इसे उठाया जाएगा। डीडीए ने अपने स्तर पर तैयारी पूरी कर ली है। हेल्प डेस्क भी शुरू कर रहा है। जबकि दिल्ली सरकार इस दिशा में कुछ नहीं कर रही है। पांच वर्षों तक दिल्ली के लोगों के साथ हुए अन्याय को भी विधानसभा में उठाया जाएगा। 

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

Posted By: Prateek Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस