नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। देश के नामी संस्थानों शुमार जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में फीस वृद्धि का मामला थम नहीं रही है। जेएनयू के साथ अब डीयू के छात्र संगठन भी इस मुद्दे पर साथ आ गए है। इस बीच शुक्रवार को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) ने कहा है कि उसने केंद्रीय मानव संसाधन विकास (एचआरडी) मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक के इस्तीफे की कोई मांग नहीं की है।

उसका कहना है कि जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में छात्रावास फीस बढ़ोतरी को लेकर बृहस्पतिवार को हुए प्रदर्शन में कुछ कार्यकर्ताओं ने जोश में मांग न माने जाने की स्थिति में एचआरडी मंत्री के इस्तीफे की मांग को लेकर नारे जरूर लगाए, लेकिन एबीवीपी इससे इत्तेफाक नहीं रखती है और न ही उसने मंत्री के इस्तीफे की कोई औपचारिक मांग की है।

एबीवीपी के प्रदेश मंत्री सिद्धार्थ यादव का कहना है कि विद्यार्थी परिषद का साफ मानना है कि हम किसी राजनीति में विश्वास नहीं रखते और हमारा न ही कुलपति और न ही मंत्री के इस्तीफे की मांग को लेकर मार्च था। हमारा मुद्दा है कि जिस विषय को लेकर हम चल रहे हैं यानी छात्रावास फीस वापसी, वो होनी चाहिए। जो एचआरडी मंत्रालय ने हाई पावर कमेटी बनाई है, उसे हम नहीं मानते। हमारी मांग मानी जानी चाहिए, ये महत्वपूर्ण है और एबीवीपी इसके लिए संघर्ष कर रही है।

उल्लेखनीय है कि बृहस्पतिवार को एबीवीपी ने जेएनयू छात्रावास फीस वृद्धि को लेकर मंडी हाउस से मार्च निकाला था, जिसमें जेएनयू में पढ़ाई कर रहे एबीवीपी से जुड़े कई छात्र शामिल हुए थे। इस दौरान जेएनयू प्रशासन से फीस वापसी को लेकर मांग हो रही है। 

दिल्ली-एनसीआर की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस