रेवाड़ी, जागरण संवाददाता। लंबे समय के बाद कांग्रेस एकजुट नजर आई। मौका था भाजपा सरकार की नीतियों के खिलाफ सोमवार को राजीव गांधी चौक के निकट आयोजित राज्य स्तरीय विरोध प्रदर्शन का।

प्रदेशभर में चल रहे कांग्रेस के विरोध प्रदर्शनों के दौर का रेवाड़ी में समापन हुआ तथा इस अवसर पर कांग्रेस के तमाम दिग्गज नेता एक ही मंच पर नजर आए। राज्य स्तरीय विरोध प्रदर्शन के संयोजक पूर्व मंत्री कैप्टन अजय सिंह यादव रहे तथा प्रदेशाध्यक्ष कुमारी सैलजा के साथ ही पूर्व मुख्यमंत्री व नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा विशेष तौर पर मौजूद रहे। इनके अतिरिक्त कांग्रेस के 8 से 10 विधायकों व कई पूर्व विधायकों की मंच पर मौजूदगी ने साफ किया कि कांग्रेस अब एकजुट होकर आगे बढ़ रही है।

प्रदेशाध्यक्ष कुमारी सैलजा व पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने इस विरोध प्रदर्शन में भाजपा सरकार पर जमकर हमला बोला। वहीं पूर्व मंत्री कैप्टन अजय सिंह यादव व रेवाड़ी विधायक चिरंजीव राव ने भी सरकार को घेरने में कोई कसर नहीं छोड़ी।

पूर्व मंत्री कैप्टन अजय सिंह ने भाजपा के दस में से आठ मंत्रियों को इन विधानसभा में जनता ने हराने का काम किया है, जिससे स्पष्ट है कि जनता का समर्थन भाजपा के साथ नहीं था। जनता को धोखा देकर भाजपा ने जजपा के साथ मिलकर सरकार बनाई। उन्होंने कहा कि भाजपा ने महाराष्ट्र में लोकतंत्र की हत्या करके सरकार बनाई है। उन्होंने कहा कि सरकार सीबीआइ, ईडी का गलत तरीके से इस्तेमाल कर रही है।

पूर्व सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने सरकार को घेरते हुए कहा कि कांग्रेस शासनकाल में रेवाड़ी में 19 शिक्षण संस्थान खोले गए थे तथा 213 स्कूल अपग्रेड किए गए थे लेकिन भाजपा सरकार ने एक भी शिक्षण संस्थान नहीं दिया तथा महज 5 स्कूल अपग्रेड किए हैं।

विधायक चिरंजीव राव ने कहा कि भाजपा की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ आज हमारा यह राज्य स्तरी प्रदर्शन का समापन हो रहा है। उन्होने कहा कि भाजपा ने कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी व प्रियंका गांधी से एसपीजी सिक्योरिटी वापस लेकर उनकी सुरक्षा से खिलवाड़ किया है। बेराजगारी, मंदी व गिरती हुई अर्थव्यवस्था से जनता त्रस्त है। मनेठी में एम्स का वादा करके सरकार अब पीछे हट रही है, लेकिन वे इस मुद्दे पर लगातार संघर्ष कर रहे हैं। विधायक गीता भुक्कल, विधायक राव दानसिंह, विधायक कुलदीप वत्स, विधायक मामन खान, विधायक आफताब अहमद, विधायक अमित सिहाग, पूर्व मंत्री कृष्णमूर्ति हुड्डा, पूर्व मंत्री डॉ. एमएल रंगा, पूर्व मंत्री सुभाष बतरा, पूर्व मंत्री राव नरेंद्र सिंह, पूर्व मंत्री अकरम खान आदि विशेष तौर पर मौजूद रहे।

प्रदेशस्तरीय विरोध प्रदर्शन में शामिल होने पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री एवं विपक्ष के नेता चौधरी भूपेंद्र सिंह हुड्डा व पूर्व सांसद दीपेन्द्र हुड्डा का बाइपास पर महावीर यादव मसानी की अगुवाई में कार्यकर्ताओं ने स्वागत किया। दोनों नेता कुछ देर कार्यालय में रुकने के साथ राजनीति चर्चा भी की। इस मौके पर भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि भाजपा के घमंड और जनता पर की गई तानाशाही ने इस विधानसभा चुनाव में भाजपा को सबक सिखा दिया है। भाजपा ने हमेशा तोड़ने की राजनीति की। हरियाणा में माहौल खराब किया। लोगों को आपस में लड़वा कर एक दूसरे का दुश्मन बनाने की कोशिश की। विधानसभा चुनाव में डर, भय, धन और दौलत हर चीज का इस्तेमाल कर वोट पाने की कोशिश की लेकिन लोगों ने भाजपा की असलियत दिखा दी। हमें जनता ने विपक्ष में बैठने का मौका दिया है। हम विपक्ष में रहकर जनता के मुद्दों के लिए लड़ाई लड़ेंगे। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं को एकजुट होकर सरकार का विरोध करने का आह्वान किया। पूर्व सांसद दीपेंद्र हुड्डा ने कहा कि भले हमारी सरकार नहीं बनी लेकिन जनता ने एक मजबूत विपक्ष के रूप में हमे चुना है। इस मौके पर महेंद्रगढ़ विधायक राव दान सिंह भी उपस्थित थे।

वहीं, भाजपा व्यवसायिक प्रकोष्ठ प्रदेश संयोजक सतीश खोला ने कहा कि कांग्रेस का प्रदेशस्तरीय विरोध प्रदर्शन पूरी तरह से विफल रहा। जितना पांडाल कांग्रेसियों की ओर से लगाया गया था उतने लोग भी पहुंच नहीं पाए जबकि प्रदेश कांग्रेस के सभी बड़े नेता प्रदर्शन में आए थे। इससे साफ जाहिर होता है कि हरियाणा में भाजपा की सरकार जनता की इच्छाओं के अनुसार काम कर रही है। इससे यह साबित होता है कि मनोहर सरकार की पारदर्शी नीतियां खासी लोकप्रिय है।

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस