गाजियाबाद [गौरव शशि नारायण]। The Kapil Sharma Show: दिल्ली में सत्तासीन आम आदमी पार्टी (aam aadmi party) के बागी नेताओं में शुमार और कवि कुमार विश्वास ( Poet Dr Kumar Vishwas)  शनिवार को देश के सबसे लोकप्रिय टेलीविजन शो 'द कपिल शर्मा शो' (The Kapil sharma show) में पहुंचे। इस शो में कवि डॉ. कुमार विश्वास की नई किताब 'फिर मेरी याद' का विमोचन किया गया। बताया जा रहा है कि इस पुस्तक के विमोचन एपिसोड के महज कुछ घंटों के अंदर ही यह किताब अमेजन की बेस्टसेलर में नंबर-1 पर पहुंच गया।

यह जानकारी खुद कुमार विश्वास ने ट्वीट कर दी है- 'सोचा था कि लंदन से लौट कर आपसे नई किताब 'फिर मेरी याद' के बारे में बात करूँगा। लेकिन इससे पहले ही आप लोगों ने इसे वो मुकाम दे दिया कि अब कहने को कुछ नहीं। 8 घंटों से भी कम समय में नम्बर 1 हो जाना और कुछ नहीं, आप की मुहब्बत है।'

बता दें कि शनिवार को प्रसारित हुए कपिल शर्मा शो के इस बहुचर्चित और बहुप्रतीक्षित एपिसोड में बॉलीवुड एक्टर मनोज वाजपेयी (Actor Manoj Vajpai) और पंकज त्रिपाठी (Actor Pankaj Tripathi) भी शामिल हुए। शो के दौरान मनोज वाजपेयी ने कुमार विश्वास की नई किताब 'फिर मेरी याद' से एक कविता 'तुम्हारा फोन आया है' भी पढ़ी। इस पर लोगों ने जमकर तालियां भी बजाईं।

कुमार ने कहा 'कमल का राज है'

एपिसोड के दौरान विश्वास ने राजनैतिक चुटकियां भी लीं। कपिल शर्मा कर यह पूछने पर कि यह किताब राजकमल से ही क्यों छपवाई, विश्वास ने कहा कि चूंकि केंद्र में कमल का राज है, इसलिए राजकमल से छपवाई। एक और सवाल के जवाब में विश्वास ने कहा कि झाड़ू ले कर उड़ने वाले सिर्फ़ बॉलीवुड को फ़िल्मों में ही नहीं होते। उनका इशारा केजरीवाल की तरफ़ था। बहरहाल, इस किताब को ले कर सोशल मीडिया पर ख़ूब हलचल है और प्रकाशक का उत्साह भी चरम पर है।

साथ ही मनोज वाजपेयी ने यह भी कहा कि हर पीढ़ी में एक युग-कवि होता है जो कविता को नया प्राण-तत्व देता है। जैसे अपने समय में रामधारी सिंह 'दिनकर' जी ने और हरिवंश राय बच्चन जी ने युवाओं को कविता से जोड़ा, वैसा ही आज के समय में कुमार विश्वास ने किया है। ठहाकों और देसी मस्ती से भरे एपिसोड में कुमार विश्वास, मनोज वाजपेयी और पंकज त्रिपाठी ने पुराने दिनों को याद किया। तीनों की दोस्ती के भी खूब किस्से चले। यह पहला मौका था जब किसी टेलीविजन चैनल के इतने बड़े कार्यक्रम में किसी पुस्तक का विमोचन हुआ है।

बता दें क डॉ. कुमार विश्‍वास की दो पुस्‍तकें प्रकाशित हो चुकी हैं। पहली पुस्तक 1996 में 'इक पगली लड़की के बिन' तथा दूसरी 'कोई दीवाना कहता है' 2007 में आई, जिसका दूसरा संस्करण 2010 में भी प्रकाशित हुआ।

उल्लेखनीय है कि कुमार विश्वास की यह किताब 12 वर्ष के अंतराल के बाद आई है। यह किताब प्रतिष्ठित समूह राजकमल प्रकाशन से छपी है। अमेजन पर इस किताब के बेस्टसेलर में नंबर 1 पर आते ही उनकी पहली किताब 'कोई दीवाना कहता है' भी बेस्टसेलर की सूची में दूसरे नम्बर पर आ गई। उनकी पिछली किताब डायमण्ड प्रकाशन से छपी थी।

दिल्ली-NCR की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस