नई दिल्ली, एजेंसी। JNU Violence Case: दिल्ली स्थित जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (Jawaharlal Nehru University) में मंगलवार को वामपंथी छात्र संगठनों के प्रदर्शन के दौरान बॉलीवुड एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण भी पहुंची। इस दौरान उन्होंने जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्र संघ अध्यक्ष आइशी घोष से मुलाकात की। इसके बाद वह वहां पर हो रहे प्रदर्शन में पहुंचीं जहां पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष और देश द्रोह के आरोपित कन्हैया कुमार भी मौजूद थे। इसको लेकर जब कन्हैया कुमार से सवाल किया गया तो उन्होंने हैरान करने वाली प्रतिक्रिया दी। कन्हैया ने कहा- 'अच्छा आईं थी? हम नहीं देख पाए। मेरी बातचीत भी नहीं हो पाई, और मुलाकात भी नहीं हुई।'

कन्हैया कुमार के इस बयान को लेकर कहा जा रहा है कि यह उन्होंने जानबूझकर कहा है। ऐसा कैसे संभव है कि कार्यक्रम के दौरान कन्हैया से चंद कदम की दूरी पर बॉलीवुड की टॉप एक्ट्रेस खड़ी थी और वह देख नहीं पाए।

गौरतलब है कि नामी एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण की फिल्म 'छपाक' जल्द ही बड़े पर्दे पर रिलीज होने वाली है और वह इन दिनों अपनी फिल्म के प्रचार के लिए दिल्ली में हैं। मंगलवार शाम को दीपिका पादुकोण अचानक ही जेएनयू कैंपस में हिंसक घटना के विरोध में आयोजित विरोध प्रदर्शन के दौरान पहुंच गई। यहां पर आईं दीपिका ने सिर्फ आइसा नेता और जेएनयू छात्र संघ अध्यक्ष आइशी घोष से बातचीत की, लेकिन उन्होंने किसी तरह को संबोधन नहीं किया। इस दौरान जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने यहां पर जुटे वामपंथी छात्रों को संबोधित किया। इस दौरान दीपिका पादुकोण कुछ कदम की दूरी पर खड़ी थीं, जब कन्हैया कुमार नारे लगा रहे थे।

वहीं, जेएनयू संस्थान के छात्रों ने बाद में दावा किया कि एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण हिंसा के खिलाफ प्रदर्शन में छात्रों का साथ देने के लिए आईं थीं और उन्होंने इस घटना का विरोध भी किया है। 

 

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस