नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में फीस वृद्धि के बाद लगातार हो रहे विरोध के बीच शुक्रवार को मानव संसाधन विकास मंत्रालय की तीन सदस्यीय समिति छात्रों से मिलने के साथ मौजूद हालात के मद्देनजर समधान ढूंढ़ने के लिए संस्थान का दौरा करेगी।

एबीवीपी ने निकाला मार्च, मांगा निशंक का इस्तीफा

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने जेएनयू में फीस बढ़ोतरी के मुद्दे पर गुरुवार को प्रदर्शन किया। एबीवीपी ने मंडी हाउस से मानव संसाधन विकास मंत्रलय (एमएचआरडी) कार्यालय तक मार्च निकालने की योजना बनाई थी, लेकिन दिल्ली पुलिस ने छात्रों को संसद मार्ग थाने के पास रोक दिया। पुलिस ने 160 छात्रों को हिरासत में लिया, जिनमें से तीन दिव्यांग व कुछ छात्रएं शामिल थीं। एबीवीपी ने एमएचआरडी मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक के इस्तीफे की भी मांग करते हुए कहा कि मंत्रलय द्वारा गठित की गई उच्चस्तरीय समिति भंग की जाए। मार्च में एबीवीपी के प्रदेश मंत्री सिद्धार्थ यादव, जेएनयू इकाई अध्यक्ष दुर्गेश कुमार, इकाई मंत्री मनीष जांगिड़ भी मौजूद थे। एबीवीपी के प्रदेश मंत्री सिद्धार्थ यादव ने छात्रवास की बढ़ाई गई फीस वापस लेने की मांग की।

डीयू के छात्र भी जेएनयू के छात्रों के समर्थन में

डीयू के छात्रों एवं शिक्षकों ने भी जेएनयू के छात्रों का समर्थन किया है। डीयू के कुछ छात्रों ने ऑट्र्स फैकल्टी में बुधवार और गुरुवार को जेएनयू के छात्रों के समर्थन में नारेबाजी भी की। छात्रों ने कहा कि जेएनयू प्रशासन बढ़ाई गई फीस तुरंत वापस ले।

प्रदेश कांग्रेस ने भी जताया विरोध

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा ने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में फीस बढ़ोतरी के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे के छात्रों का समर्थन करते हुए कहा कि पुलिस द्वारा की गई बर्बरतापूर्ण कार्रवाई व केंद्रीय मानव संसाधन मंत्रलय द्वारा जबरन फीस बढ़ाए जाने के तुगलकी फरमान की निंदा करते हैं। उन्होंने कहा है कि प्रदेश कांग्रेस संघर्ष की इस घडी में जेएनयू छात्रों के साथ खड़ी है।

बृहस्पतिवार शाम चोपड़ा के नेतृत्व में जेएनयू मुद्दे पर ही विचार करने के लिए राजीव भवन स्थित पार्टी कार्यालय में दिल्ली के सभी पूर्व छात्र अध्यक्षों और छात्र नेताओं की एक बैठक बुलाई गई। पूर्व डूसू अध्यक्ष व पूर्व विधायक हरी शंकर गुप्ता ने केंद्र सरकार व मानव संसाधन विकास मंत्रलय से जेएनयू में फीस बढ़ाने के आदेश को वापस लेने की मांग की।

चोपड़ा ने कहा मोदी सरकार के इशारे पर संविधान में अपनी बात रखने के अधिकार का दमन किया जा रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि पूरे तरीके से पुलिस व जेएनयू प्रशासन का भाजपायीकरण किया जा रहा है। प्रदेश कांग्रेस इस मामले में छात्रों के साथ है और जरूरत पड़ी तो उनके हक के लिए आंदोलन भी किया जाएगा। 

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस