नई दिल्‍ली, जागरण संवाददाता। Unnao Case Protest: देश भर में दुष्‍कर्म की घटनाओं को लेकर विरोध प्रदर्शन जारी है। इसी कड़ी में दिल्‍ली महिला आयोग की अध्‍यक्ष स्‍वाति जयहिंद भी प्रदर्शन कर रही हैं। उन्‍होंने शनिवार की शाम को कैंडिल मार्च निकाला। उन्‍होंने राजघाट से इंडिया गेट तक कैंडिल मार्च निकाला है। पुलिस प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए बैरिकेट लगा चुकी है, हालांकि प्रदर्शनकारी बैरिकेट को तोड़ने कर आगे बढ़ने में लगे हैं। इस कारण पुलिस उन्‍हें रोकने के लिए पानी की बौछार कर रही है।

दिल्‍ली पुलिस के पीआरओ एमएस रंधावा ने बताया कि प्रदर्शनकारियों ने आग की कुछ चीजों को पुलिसकर्मियों पर फेंका इसके बाद पुलिस ने पानी की बौछार की है। उन्‍होंने बताया कि प्रदर्शनकारियों को अरुण जेटली स्‍टेडियम के पास जाने की इजाजत नहीं थी। इसलिए हम उन्‍हें समझाने की कोशिश कर रहे हैं ताकि वह वापस जा सके।

दिल्‍ली पुलिस के जवान प्रदर्शनकारियों को रोकने की कोशिश कर रहे हैं। इधर प्रदर्शनकारी उन्‍नाव दुष्‍कर्म पीड़िता को न्‍याय देने की मांग कर रहे हैं। बता दें कि शुक्रवार की देर रात उन्‍नाव पीड़िता की सफदरजंग अस्‍पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई थी। इसके बाद से देश भर के लोगों में आक्रोश बढ़ गया है। सुबह से ही लोग प्रदर्शन कर सरकार के खिलाफ गुस्‍सा जाहिर कर रहे हैं। 

प्रदर्शनकारी नारे लगाते हुए आगे बढ़ना चाह रहे हैं। इधर पुलिस उन्‍हें रोकने की पूरी कोशिश कर रही है। पुलिस द्वारा वाटर कैनन चलाने के बाद  महिलाएं उग्र हो गई हैं। हालांकि पुलिस के साथ हुई भिड़ंत के दौरान कई लड़िकयां बेहोश भी हो गई हैं। बता दें कि लोग दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति जयहिंद के आमरण अनशन के सहयोग के लिए शांति पूर्ण कैंडल मार्च निकाल रहे थे। जिसे पुलिस ने रोकने का प्रयास किया है। इसके बाद से लोग नाराज हो गए हैं। इधर दिल्‍ली में ही उत्तर प्रदेश भवन के आगे भारतीय युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने कैंडल जलाकर उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता को श्रद्धांजलि दी।

इधर उत्‍तर प्रदेश में भी इस केस को लेकर काफी प्रदर्शन हुआ। दुष्कर्म का केस वापस लेने से इन्कार पर केरोसिन डालकर जलाई गई उन्नाव की बिटिया के समर्थन में वहां भी प्रदर्शन जारी है। सियासी हंगामा शनिवार सुबह से ही जारी है। विपक्षी योगी सरकार पर निशाना साध रहे हैं। नेताओं ने घटना पर दुख जताया है। सपा मुखिया अखिलेश यादव विधानसभा के सामने धरना दिया। उन्होंने सरकार पर कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाया। वहीं कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भाजपा मुख्यालय के सामने विरोध जताया। कुछ कार्यकता विधानसभा के सामने प्रदर्शन किए। इस पर पुलिस को हल्‍का बल प्रयोग कर सभी हटना पड़ा।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस