नई दिल्ली, एएनआइ/जेएनएन। Shaheen Bagh Protest: देशद्रोही बयान बयान देने वाले जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के छात्र शरजील इमाम पर अब शिकंजा कसता जा रहा है। उसके परिजनों से दिल्ली पुलिस  पूछताछ कर रही है। सूत्रों ने बताया कि पूछताछ में शरजील इमाम को लेकर पुलिस को अहम सुराग मिले हैं। बताया जा रहा है कि पुलिस  वहीं बिहार में पुलिस शरजील के भाई और उसके एक दोस्त को लेकर पूछताछ कर रही है। देशद्रोही बयान देने का वीडियो वायरल होने के बाद शरजील इमाम फरार है। 

देशद्रोही बयान देने के मामले में दिल्ली पुलिस ने मामला दर्ज किया है। इसके अलावा यूपी और असम समेत राज्यों में भी मामला दर्ज है। पुलिस उसकी गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी कर रही है लेकिन अभी तक उसका सुराग नहीं लग पाया है। 

शरजील की तलाश में पटना में छापेमारी

देशद्रोह बयान के आरोपित जेएनयू के शोध छात्र शरजील इमाम की तलाश में दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच सोमवार को बिहार के पटना पहुंच गई। वहां टीम ने शरजील के पांच ठिकानों पर छापेमारी की लेकिन वह नहीं मिला। क्राइम ब्रांच के अलावा उत्तर प्रदेश व असम की पुलिस भी शरजील की तलाश में लगातार दिल्ली, बिहार व उत्तर प्रदेश आदि राज्यों में हर संभावित ठिकानों पर छापेमारी कर रही है, लेकिन वह किसी के हाथ नहीं आ रहा है।

क्राइम ब्रांच का कहना है कि शरजील के कई आपत्तिजनक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो जाने पर उसे लगने लगा कि पुलिस उसके पीछे पड़ गई है। जिससे मोबाइल बंद कर वह भूमिगत हो गया है। शरजील के मोबाइल कॉल डिटेल रिकॉर्ड को खंगाल उसके रिश्तेदारों, दोस्तों व परिचितों के जरिये भी क्राइम ब्रांच की टीम उसे जल्द दबोचने का प्रयास कर रही है। बीती 25 जनवरी की दोपहर शरजील की लोकेशन पटना की दीघा रोड पर मिली थी।

शाहीन बाग धरने का मास्टरमाइंड है शरजील इमाम

क्राइम ब्रांच का कहना है कि शरजील, शाहीन बाग धरने का मास्टरमाइंड है। शरजील इमाम पर रविवार को क्राइम ब्रांच की इंटर स्टेट सेल ने स्वत: संज्ञान लेते हुए देशद्रोह समेत अन्य धाराओं में केस दर्ज किया है। इससे पहले अलीगढ़ की सिविल लाइंस थाना पुलिस व असम की गुवाहटी पुलिस शरजील के खिलाफ देशद्रोह की धाराओं में दो एफआइआर दर्ज कर चुकी हैं।

13 दिसंबर को शरजील ने सबसे पहले जामिया में देश के खिलाफ आपत्तिजनक बयान दिया था। उसके बाद शाहीन बाग धरने का पहला नेतृत्व उसी ने किया था और वहां भी आपत्तिजनक बयान दिया था। उसके बाद वह अलीगढ़ चला गया था। जामिया के बाद देश में जहां-जहां धरना प्रदर्शन किया गया, शरजील वहां पहुंच कर देश को बांटने जैसे भाषण दिए। हर जगह इसी के भड़काऊ भाषण से हिंसा फैली। 16 जनवरी को शरजील ने अलीगढ़ में असम को लेकर जो बयान दिया वह सोशल मीडिया में बहुत तेजी से वायरल हो गया। अलीगढ़ के बाद वह बिहार चला गया और 23 जनवरी को पटना की रैली में शाहीन बाग का जिक्र किया। बिहार के जहानाबाद का रहने वाला शरजील 13 दिसंबर के बाद से जगह-जगह घूमकर सरकार के खिलाफ भड़काऊ भाषण दे रहा है।

Posted By: Mangal Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस