नई दिल्ली [राकेश कुमार सिंह]। दिल्ली स्थित जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में 4 जनवरी को हुई हिंसा और तोड़फोड़ मामले में दिल्ली पुलिस ने सख्त रुख अपना लिया है। जेएनयू प्रशासन की शिकायत पर जवाहर लाल नेहरू छात्र संघ अध्यक्ष आईशी घोष के अलावा 20 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। जेएनयू प्रशासन ने भी अब इन लोगों की सूची जारी की है।

इन 20 लोगों के खिलाफ दर्ज की गई FIR

  1. जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष आईशी घोष
  2. साकेत मून 
  3. सारिका चौधरी 
  4. जी सुरेश
  5. कृष जायसवाल
  6. गौतम शर्मा
  7. विवेक कुमार
  8. भास्कर वी
  9. अपेक्षा
  10. प्रियदर्शी
  11. स्वेता कश्यप
  12. श्रेया घोष
  13. रामू कुमार
  14. मानस कुमार
  15. विवेक कुमार पांडेय
  16. शंभवित सिंधी
  17. चुनचुन यादव
  18. कामरान
  19. दौलन
  20. गीता कुमारी 

भाजपा का कोई भी कार्यकर्ता हिंसा नहीं भड़का सकता: राय 

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में नकाबपोश हमलावरों के हमले पर केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय ने कहा है कि भाजपा का कोई भी कार्यकर्ता या नेता हिंसा नहीं भड़का सकता है। उन्होंने कहा कि हमले के पीछे कांग्रेस और आम आदमी पार्टी का हाथ है।

उल्लेखनीय है कि रविवार को नकाबपोश भीड़ ने जेएनयू में छात्रों और प्राध्यापकों पर हमला किया। इसमें 35 से अधिक छात्र घायल हो गए। इसके अलावा संपत्ति को भी नुकसान पहुंचाया गया। जेएनयू छात्र संघ ने इस हमले का आरोप आरएसएस से संबद्ध अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) पर लगाया है। दूसरी तरफ एबीवीपी का कहना है कि इसके पीछे वाम कार्यकर्ताओं का हाथ है।

हिंसा में शामिल छात्रों पर बरसे आठवले 

वहीं, कैंपस में हिंसक घटना के विरोध में छात्रों की तरफ से आयोजित सभा में मंगलवार शाम बॉलीवुड अभिनेत्री दीपिका पादुकोण पहुंचीं। इसके अलावा यहां पहुंचे सीपीआइ नेता डी. राजा, जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने छात्रों को संबोधित किया। जबकि दीपिका ने छात्रों को संबोधित नहीं किया।उन्होंने छात्रसंघ अध्यक्ष आईशी घोष से बात की। हालांकि संस्थान के छात्रों ने कहा कि दीपिका छात्रों का साथ देने के लिए आईं थीं और उन्होंने इस घटना का विरोध किया। सभा में छात्रों ने नारेबाजी भी की।

छात्र खत्म करें हड़ताल

जेएनयू के रेक्टर-1 चिंतामणी महापात्र ने कहा कि रविवार को जैसे ही मारपीट शुरू हुई तुरंत पुलिस को सूचित किया गया। उन्होंने छात्रवास की फीस बढ़ोतरी के विरोध में आंदोलन कर रहे छात्रों से कहा कि वह अपनी हड़ताल को खत्म करें। कैंपस में स्थिरता लाने के लिए काम किया जा रहा है। सेमेस्टर के लिए पंजीकरण की प्रक्रिया शुरू किया जा रहा है।

सीताराम येचुरी व प्रकाश करात पहुंचे जेएनयू

 मंगलवार शाम को दल बल के साथ विवि जाने का प्रयास कर रहे माकपा नेता प्रकाश करात और सीताराम येचुरी को पुलिस ने रोक दिया। हालांकि उन्हें विवि के अन्य गेट से कार द्वारा सभा स्थल तक जाने की अनुमति दे दी गई।

जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली : जेएनयू ¨हसा पर केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले मंगलवार को नाराज दिखे। उन्होंने पढ़ाई छोड़ कर ¨हसा और आंदोलन करने वाले छात्रों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की। साथ ही कहा कि विवि परिसर में रोज-रोज होने वाले प्रदर्शन और आंदोलन से निपटने के लिए विश्वविद्यालय प्रशासन को एक आचार संहिता बनानी चाहिए।

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस