नई दिल्ली, एएनआइ। Jamia Violence Case Chargesheet: नागरिकता संशोधित कानून (सीएए) के खिलाफ 15 दिसंबर को दिल्ली में न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी (एनएफसी) व जामिया नगर में शरजील इमाम के भाषण को सुनकर ही लोग आक्रोशित हुए थे और हिंसक उपद्रव किया था। दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने 13 फरवरी को साकेत कोर्ट में देशद्रोह के आरोपित जेएनयू के शोध छात्र शरजील समेत 18 आरोपितों के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया था। दोनों जगहों हुए भीषण ¨हसक उपद्रव में जामिया मिल्लिया समेत अन्य शिक्षण संस्थानों के विद्यार्थी बड़ी संख्या में शामिल थे।

क्राइम ब्रांच ने विद्यार्थियों के भविष्य को देखते हुए किसी को भी आरोपित नहीं बनाया है। वहीं आरोप पत्र में शरजील के बारे में बताया गया है कि उसी के भड़काऊ भाषण के बाद छात्रों व स्थानीय लोग उत्तेजित हुए थे और हिंसक उपद्रव किया था। आरोप पत्र घटना के करीब दो महीने बाद दायर किया गया है। क्राइम ब्रांच के वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि जांच जारी है। शरजील समेत 18 आरोपितों की गिरफ्तारी हो चुकी है। एनएफसी और जामिया में 9-9 आरोपित गिरफ्तार किये गए थे। जिनमें शरजील को छोड़कर बाकी स्थानीय ही है। चार आरोपित तिहाड़ में बंद है, बाकी जमानत पर बाहर है।

डिटेल का रिकार्ड रखा

आरोप पत्र में बड़ी संख्या में सीसीटीवी फुटेज व मोबाइल से बनाए गए वीडियो व आरोपितों के मोबाइल फोन के कॉल डिटेल का रिकॉर्ड रखा गया है। 100 से अधिक लोगों को गवाह बनाया गया है। दोनों जगह हुए हिंसक उपद्रव में 95 लोग घायल हो गए थे, जिनमें 47 पुलिस अधिकारी व कर्मी शामिल थे। दंगे के दौरान उपद्रवियों ने डीटीसी की 6 बसें व तीन निजी वाहनों में आग लगा दी थी। आरोप पत्र में प्वाइंट 32 बोर की पिस्टल से गोली चलने की बात भी कही गई है। आरोप पत्र में कहा गया है कि कई दंगाइयों की तस्वीरें मिल गई है लेकिन उनकी पहचान नहीं हुई है। पहचान के लिए विज्ञापन दिए गए हैं।

17 आरोपितों को किया गया है गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस के अनुसार, जामिया हिंसा मामले में 8 लोगों को गिरफ्तार किया गया है जबकि न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में हुई हिंसा मामले में 9 लोगों को अरेस्ट किया जा चुका है। हिंसा मामले में कुल मिलाकर 17 आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है। ये सभी आरोपित स्थानीय हैं।  जांच के दौरान मिले पिस्टल के खाली कारतूस का भी जिक्र चार्जशीट में किया गया है।

पुलिस ने कहा कि जांच के दौरान सीसीटीवी फुटेज, कॉल डिटेल रिकॉर्ड और 100 से अधिक गवाहों के बयान लिए गए थे। चार्जशीट में इन सभी की जानकारी विस्तार से दी गई है।

तीन मार्च तक बढ़ी शरजील की न्यायिक हिरासत

देशद्रोह मामले में गिरफ्तार शरजील इमाम की न्यायिक हिरासत कोर्ट ने तीन मार्च तक बढ़ा दी है। इससे पहले शरजील इमाम को क्राइम ब्रांच ने सोमवार को दंगे के आरोप में गिरफ्तार कर एक दिन के रिमांड पर लिया था। देश के खिलाफ आपत्तिजनक व भड़काऊ भाषण देने का वीडियो वायरल होने पर क्राइम ब्रांच ने स्वत: संज्ञान लेते हुए शरजील के खिलाफ पहले देशद्रोह का मामला दर्ज कर उसके पैतृक गांव जहानाबाद से उसे गिरफ्तार किया था। जांच में दिल्ली में दंगा करने के लिए उकसाने की बात सामने आने पर क्राइम ब्रांच ने अब उसके खिलाफ दंगा करने के लिए उकसाने व आपराधिक साजिश रचने का मुकदमा भी दर्ज कर किया है।

 ये भी पढ़ेंः जामिया के वायरल वीडियो पर सियासी संग्राम, कांग्रेस के बाद अब AAP ने पुलिस को घेरा

CAA Protest: शाहीन बाग में भीड़ जुटाने के हथकंडे फेल, बुलाने पर भी नहीं आ रहे लोग

Posted By: Mangal Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस