रेवाड़ी, जागरण संवाददाता। राजनीति की दुनिया में कभी बड़ा रुतबा रखने वाले बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल मुखिया लालू प्रसाद यादव (Rashtriya Janata Dal chief Lalu Prasad Yadav) के पटना स्थित घर पर जहां छठ पर्व पर इस बार सन्नाटा पसरा है, वहीं हरियाणा में दामाद चिरंजीव राव के घर पर खुशी मनाई जा रही है।

बता दें कि लालू प्रसाद यादव और राबड़ी देवी की छठी बेटी अनुष्का (Aunshka Rav) अपनी मोहक मुस्कान बिखेरती शनिवार शाम को रेवाड़ी में नई अनाज मंडी स्थित छठ पूजा स्थल पर पहुंचीं। इस दौरान वह काफी खुश नजर आईं। इस दौरान उनके ससुर कांग्रेस नेता कैप्टन अजय सिंह यादव भी नजर आए।

गौरतलब है कि कि लालू-राबड़ी की छठी बेटी अनुष्का की शादी हरियाणा के पूर्व मंत्री और कांग्रेस के दिग्गज नेता कैप्टन अजय सिंह यादव के बेटे चिरंजीव राव के साथ हुई है। 

ऐसे में कैप्टन परिवार के लिए यह दोहरी खुशी है। एक तो त्योहार और दूसरा उनके परिवार में अनुष्का के पति चिरंजीव राव ने रेवाड़ी विधानसभा चुनाव में जीत हासिल की है और पहली बार विधायक बने हैं। 

पूर्व में ऊर्जा मंत्री रहे डॉ. अजय यादव के बेटे चिरंजीवी हरियाणा यूथ कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष भी रह चुके हैं और कांग्रेस पार्टी के प्रमुख युवा नेताओं में उनका नाम आता है। रेवाड़ी विधानसभा सीट पर जीत ने चिरंजीव राव और उनके पिता का कद हरियाणा प्रदेश कांग्रेस में बढ़ा दिया है। वहीं, कहा यह भी जा रहा है कि अगर हरियाणा में कांग्रेस की सरकार बनती तो चिरंजीव राव को मंत्री बनाया जा सकता था। फिलहाल हरियाणा में भारतीय जनता पार्टी और जननायक जनता पार्टी की सरकार बन गई और अगले पांच साल तक इसके चलने का दावा किया जा रहा है।

वहीं, बताया जा रहा है कि बिहार की राजधानी पटना में लालू-राबड़ी आवास पर वर्षों पहले छठ पर होने वाली चहलपहल गायब है। दरअसल, लालू प्रसाद यादव चारा घोटाले में जेल की सजा काट रहे हैं, वहीं परिवार में बेटे तेज प्रताप यादव और बहू ऐश्वर्य राय में अनबन ने परिवार को गहरे संकट में डाल दिया है। 

Delhi assembly Election 2020: टिकट की चाह रखने वाले BJP नेताओं को मिली यह नई नसीहत

Chandrayaan 2 के हीरो ने आखिर क्यों कहा- 'पागलपन जरूरी है', जानने के लिए पढ़िए स्टोरी

दिल्ली-एनसीआर की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021