नई दिल्ली, प्रेट्र। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को प्रदेश के लोगों को भरोसा दिलाया कि लोगों को बसों की कमी नहीं होगी। उन्होंने ट्वीट कर कहा,' इसमें समय लगा। लेकिन आखिरकार हम सभी बाधाओं को दूर करने में सफल रहे। बसों का आगमन शुरू हो गया है'। मुख्यमंत्री ने दावा किया कि इस समय शहर में लगभग 6,000 बसें हैं।

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि राजधानी में लोगों को कोई दिक्कत न इसके लिए पर्याप्त संख्या में बसों की सुविधाएं जा रही हैं। बता दें कि केजरीवाल ने विधानसभा चुनाव से पहले 11 हजार बसें दिल्ली में लेकर आने का वादा किया था। इसके अलावा दिल्ली मेट्रो नेटवर्क की लंबाई को 500 किलोमीटर से अधिक करने का लक्ष्य रखा गया है।

गारंटी कार्ड पर काम करना ही पार्टी की सर्वोच्च प्राथमिकता 

दिल्ली की नई सरकार पहले ही दिन से रफ्तार में है। सरकार ने रफ्तार के साथ काम करना शुरू कर दिया है। सरकार ने आम आदमी पार्टी (आप) के चुनाव घोषणापत्र और मुख्यमंत्री गारंटी कार्ड पर काम करने के लिए अधिकारियों से रूपरेखा तैयार करने को कहा है। क्योंकि अगले पांच साल में चुनाव घोषणापत्र और मुख्यमंत्री गारंटी कार्ड पर काम करना ही पार्टी की सर्वोच्च प्राथमिकता है। इसके साथ ही आम आदमी की जरूरतों को किस तरह तेजी से पूरा किया जा सके, इस पर सरकार का जोर होगा।

परिवहन व्यवस्था को और मजबूत किया जाएगा

कामकाज संभालने के बाद कैबिनेट मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा कि मुख्यमंत्री गारंटी कार्ड उनकी प्राथमिकता में रहेगा। साथ ही सरकार दिल्ली के परिवहन व्यवस्था को और मजबूत करने पर काम करेगी। उन्होंने कहा कि परिवहन व्यवस्था सुधारने के लिए तमाम योजनाएं जमीन पर आने वाली हैं। दिल्ली में आने वाले कुछ समय में ही परिवहन के क्षेत्र में बदलाव दिखेगा। उन्होंने उम्मीद जताई कि अब केंद्र सरकार को मेट्रो में महिलाओं को मुफ्त यात्र की अनुमति दे देनी चाहिए।

ये भी पढ़ेंः Shaheen Bagh Protest: तीनों वार्ताकारों की पहली बैठक आज, मुलाकात को लेकर होगी चर्चा

Nirbhaya Case: निर्भया के चारों दोषियों का वजन जेल प्रशासन के लिए अहम

CAA Protest: शाहीन बाग में भीड़ जुटाने के हथकंडे फेल, बुलाने पर भी नहीं आ रहे लोग

Posted By: Mangal Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस