नई दिल्‍ली, जागरण संवाददाता। नागरिकता संशोधन कानून को लेकर शाहीन बाग में चल रहे विरोध प्रदर्शन में बुधवार को भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद शामिल हुए। चंद्रशेखर को मंगलवार को ही कोर्ट ने जमानत की शर्तों में संशोधन कर उन्‍हें दिल्‍ली आने की छूट दी थी। सीएए व एनआरसी के विरोध में सवा माह से दिल्ली-नोएडा मार्ग पर शाहीन बाग में चल रहे धरने के कारण दिल्ली-एनसीआर के लाखों लोगों को आने-जाने में परेशानी हो रही है। यह मार्ग बंद होने के कारण डीएनडी, मथुरा रोड, रिंग रोड, आउटर रिंग रोड व बारापुला पर भयंकर जाम लग रहा है। वहीं, मदनपुर खादर गांव, जैतपुर व सरिता विहार आदि इलाकों में लोगों को भयंकर परेशानी हो रही है। हालत यह है कि लोगों को मदपुर खादर की पुलिया व यहां पर टूट चुके लोहिया पुल के अवशेष से होकर आना-जाना पड़ रहा है।

पलवल से आए चंदर व रोशनी ने बताया कि उन्हें नोएडा जाना था। लेकिन प्रदर्शन के कारण पुलिस ने शाहीन बाग होकर नहीं जाने दिया। वह मदनपुर खादर गांव होते हुए आगरा कैनाल पर आईं और यहां कई साल पहले टूट चुके पुल के अवशेष से किसी तरह नहर पार की। सबसे बड़ी समस्या तो यह थी कि रोशनी की गोद में बच्चा भी था। रोशनी ने बताया कि नाला पार करते समय उन्हें काफी डर लग रहा था। जरा सा पैर फिसलने पर भी बच्चा या वह खुद नाले में गिर सकती थीं।

इस मार्ग से गुजरने वाले हर व्यक्ति को इस तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं, बहुत से लोग नोएडा से सरिता विहार, जसोला व ओखला जाने के लिए आगरा कैनाल वाले मार्ग का इस्तेमाल करते हैं लेकिन आगे जाकर मदनपुर खादर पुल पर फंस जाते हैं। वहीं, शाहीन बाग धरने के कारण मंगलवार को भी लोगों को मथुरा रोड, आउटर रिंग रोड, रिंग रोड, डीएनडी, बारापुला से लेकर एमबी रोड तक पर भयंकर जाम का सामना करना पड़ा। इस कारण लोग घंटों जाम में फंसे रहे।

Posted By: Prateek Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस