नई दिल्ली, एएनआइ/जेएनएन। देश में प्याज के बढ़ते दामों पर सियासत खत्म नहीं हो रही है। ताजा मामले में आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सदस्य संजय सिंह और सुशील गुप्ता ने मंगलवार को प्याज की बढ़ती कीमतों को लेकर संसद परिसर में प्रदर्शन किया। संजय सिंह ने कहा कि 32 हजार टन प्याज सड़ गए लेकिन केंद्र सरकार ने कोई कार्रवाई नहीं की। उन्होंने कहा कि केंद्र की लापरवाही की वजह से प्याज सड़ गए लेकिन उन्हें कम कीमतों पर नहीं बेचा गया।

राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने कहा कि केंद्रीय उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान को इस मामले पर जवाब देना चाहिए। 

32 हजार टन प्याज सड़ने के मामले में संजय सिंह ने केंद्र से मांगी जानकारी

इससे पहले सोमवार को संजय सिंह ने केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान को पत्र लिखकर 32 हजार टन प्याज सड़ने से संबंधित प्रमाण मांगा था। संजय सिंह ने पासवान को लिखे पत्र में पूछा है कि क्या 32 हजार टन प्याज एक ही दिन में सड़ गया? अगर प्याज सड़ने की जानकारी मिली तो समय रहते उसे सस्ते दामों पर जनता और राज्य सरकारों को क्यों नहीं उपलब्ध कराया गया? क्या 32 हजार टन प्याज सड़ने का कोई प्रमाण आपके पास है? यदि है तो उसकी वीडियो और भंडारण संबंधित सभी जानकारी उपलब्ध कराई जाए।

संजय सिंह ने जताई घोटाले की आशंका

संजय सिंह ने पत्र में लिखा कि देश की जनता इस बात से हैरान है कि 32 हजार टन प्याज सड़ गया और सरकार सोती रही। लोगों को ऐसा भी शक है कि प्याज कागजों में सड़ाया गया है। और इसमें बड़ा घोटाला किया गया है। क्या सरकार ने इस संबंध में कोई जांच शुरू कराई? जिन अधिकारियों की लापरवाही के कारण प्याज सड़ा है उन पर अब तक क्या कार्रवाई की गई? उन्होंने पासवान से पूछा है कि जब आपको यह पता था प्याज का उत्पादन इस वर्ष घटा है तो समय रहते सस्ते दामों पर विदेश से प्याज आयात क्यों नही किया गया? आयात-निर्यात से संबंधित सभी पत्र उपलब्ध कराए जाएं।

उन्होंने पूछा है कि दिल्ली सरकार को प्याज की आपूर्ति करना क्यों बंद किया गया। जबकि दिल्ली सरकार ने 9 दिसंबर तक प्याज उपलब्ध कराने का आपसे अनुरोध किया था। क्या आपकी सरकार राज्य सरकारों के प्रति इतनी दुर्भावना रखती है कि प्याज सड़ा सकता है, लेकिन सस्ते में उपलब्ध नही कराया जा सकता?

ये भी पढ़ेंः गाजियाबाद में एक ही परिवार के 5 लोगों ने की खुदकुशी, पालतू खरगोश को भी मार डाला

2012 Nirbhaya Case: LG को मंजूर नहीं दोषी विनय की दया याचिका, DCW ने लिखा राष्ट्रपति को पत्र

  दिल्ली-एनसीआर की ताजा खबरों को पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

 

Posted By: Mangal Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप