नई दिल्ली [वीके शुक्ला]। आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ विधायक राम निवास गोयल को सर्वसम्मति से दिल्ली विधानसभा का अध्यक्ष चुना गया है। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने राम निवास गोयल को स्पीकर बनाने का प्रस्ताव रखा। जिसका समर्थन विधायक कुलदीप कुमार ने किया। इसके बाद मंत्री गोपाल राय और विधायक विशेष रवि ने भी राम निवास गोयल के नाम का प्रस्ताव रखा। इसके बाद उन्हें सर्वसम्मति से स्पीकर चुन लिया गया।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और नेता प्रतिपक्ष राम वीर सिंह बिधूड़ी राम निवास गोयल को अध्यक्ष की कुर्सी तक लेकर गए। इससे पहले पिछली विधानसभा में राम निवास गोयल सर्वसम्मति से विधानसभा अध्यक्ष चुने गए थे। पिछले पांच साल में उन्होंने विधानसभा में बहुत से कार्य करवाए हैं। उनके कार्यकाल में क्रांतिकारियों की गैलरी बनवाई और शहीद भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु की प्रतिमाओं को लगवाने का काम किया गया। दिल्ली विधानसभा में रिसर्च सेंटर बनाया गया।

विधानसभा उपाध्यक्ष का मंगलवार को होगा चुनाव

दिल्ली विधानसभा के उपाध्यक्ष का चुनाव मंगलवार को होगा। इस पद के लिए नामांकन मंगलवार तक दाखिल किया जा सकेगा। सूत्रों के अनुसार आम आदमी पार्टी ने एक फिर से राखी बिड़ला को उपाध्यक्ष बनाने जा रही है। सूत्रों ने बताया कि राखी का नाम लगभग फाइनल हो चुका है। आम आदमी पार्टी की पिछली सरकार में भी राखी बिड़ला उपाध्यक्ष थीं।

बता दें कि दिल्ली विधानसभा 2020 में इस बार आम आदमी पार्टी (आप) के 62 और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के आठ विधायक हैं। कांग्रेस पार्टी का इस बार भी खाता भी नही खुल पाया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पिछली सरकार में मंत्री रहे सभी विधायकों को एक बार फिर से अपनी कैबिनेट में जगह दी है। इसी वजह से माना जा रहा था कि रामनिवास गोयल को एक मौका मिलेगा। दरअसल आम आदमी पार्टी का कहना था कि सभी ने अच्छा काम किया है इसलिए पिछली सरकार के मंत्रियों को दोबारा से मौका मिला है। 

Posted By: Mangal Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस