मुंबई, एएनआइ। महाराष्ट्र में फोन टैपिंग के मामले पर पर राकांपा प्रमुख शरद पवार ने कहा हर कोई जानता है कि हमारे फोन टेप किये जा रहे हैं, इसलिए हम इस बारे में गंभीरता से नहीं सोचते हैं। जहां तक मुझे पता है, फोन टैपिंग के आदेश किसी राज्य के मंत्री द्वारा नहीं दिए जा सकते हैं, इसलिए मुझे नहीं पता कि राज्य के मंत्री को इस बारे में कितना पता है। गौरतलब है कि फोन टैपिंग के मामले में शुक्रवार को महाराष्ट्र के मंत्रियों ने बयान दिये थे। 

 देवेंद्र फडणवीस

पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस ने इस मामले में कहा कि विपक्षी नेताओं के फोन टेप करना महाराष्ट्र की परंपरा नहीं है और नही हमारी सरकार ने इस तरह का कोई आदेश दिया था। मौजूदा सरकार किसी तरह की जांच करवाने के लिए पूर्णत: स्वतंत्र है। 

दीपक केसरकर

शिवसेना नेता दीपक केसरकर ने कहा था कि फोन टैपिंग के बारे में मैं यही कह सकता हूं कि कांग्रेस के शासनकाल से ही शिवसेना नेताओं के फोन टेप किये जाते रहे हैं। नेता का फोन टेप करना वाकई आपत्तिजनक है। इस बात पर आपत्ति उठाना अच्छी बात है। लेकिन जांच से पहले टिप्पणी करना किसी भी तरह से उचित नहीं है। 

अनिल देशमुख

इस मुद्दे पर गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा जब भाजपा की सरकार थी उस समय लोकसभा और विधानसभा चुनावों से पूर्व कांग्रेस और एनसीपी के फोन टेप हुए थे। सरकार के पैसे से इस काम के लिए इजरायल का एक सॉफ्टवेयर भी खरीदा गया था। 

महाराष्ट्र में नेताओंं के फोन टेप, फडनवीस बोले विपक्षी नेताओं का फोन टेप करना महाराष्ट्र की परंपरा नहीं

 

Posted By: Babita kashyap

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस