अमृतसर, [विपिन कुमार राणा]। Navjot Singh Sidhu in Pakistan पंजाब के पूर्व कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू 9 नवंबर को पाकिस्‍तान में अपने दोस्‍त इमरान खान के सामने खूब गरजे, लेकिन भारत लौटते ही गुरु फिर जैसे 'साइलेंट मोड' में चले गए। अपनी खास भाषण शैली के लिए मशहूर 'गुरु' सिद्धू ने पाकिस्‍तान द्वारा यहां करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन समारोह में जमकर भाषण दिया और अपने अंदाज में नजर आए। इसके बाद वह भारत लौटे तो फिर उनकी खामोशी बरकरार हो गई। कैप्‍टन अमरिंदर सिंह के कैबिनेट से इस्‍तीफा देने के बाद से पिछले करीब पांच महीने से वह खामोश है।

सिद्धू प्रकाश पर्व पर वेरका के गुरुद्वारा साहिब में ध्यान मुद्रा में आए नजर

सिद्धू गुरु श्री नानक देव के 550वें प्रकाश पर्व पर मंगलवार 12 नवंबर को नजर आए, लेकिन खामोश ही रहे। वह वेरका के गुरुद्वारा श्री नानकसर साहिब पहुंचे, लेकिन वहां कुछ बोले नहीं। सिद्धू अपने विधानसभा हलका के गुरुद्वारा नानकसर साहिब (वेरका) में माथा टेकने पहुंचे। यहां पर भी वह ध्यान मुद्रा में नजर आए और करीब डेढ़ घंटे तक ध्यान लगाकर बैठे रहे। इसके बाद एक बार फिर मीडिया से बचते हुए निकल गए और चुप्पी को बरकरार रखा। वहां उन्‍होंने 550 किलोग्राम फूलों की माला भी भेंट की

वेरका के श्री नानकसर गुरुद्वारा स‍ाहिब में ध्‍यान लगाकर बैठे नवजोत सिंह सिद्धू।

पंजाब सरकार के पूर्व कैबिनेट मंत्री सिद्धू ने मंत्री पद छोडऩे के बाद से ही चुप्पी साध रखी है

श्री करतारपुर साहिब जाने से पहले वह पिछले महीने नवरात्रि में माता वैष्णों देवी मंदिर गए थे और वहां कई दिनों तक रहे। कैप्‍टन अमरिंदर सिंह सरकार से इस्‍तीफा देने के बाद सिद्धू कुछ अवसरों पर लोगों के बीच नजर तो आए, लेकिन वह खामोश रहे और मीडिया से उन्‍होंने दूरी बनाए रखी। इसके साथ ही किसी कार्यक्रम आदि में नहीं पहुंचे।

वेरका के श्री नानकसर गुरुद्वारा साहिब में 550 किलो फूलों की माला अर्पित करते नवजोत सिंह सिद्धू।

- मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने छह जून को सिद्धू से निकाय विभाग वापस लेकर उन्हें ऊर्जा विभाग दे दिया था। सरकार से नाराज सिद्धू ने इसके बाद मंत्री पद से इस्तीफा भेजा, जिसे मुख्यमंत्री ने 20 जुलाई को स्वीकार कर राज्यपाल को भेज दिया।

-- 21 जुलाई को सिद्धू अमृतसर पहुंचे और तब से वह मीडिया से दूरी बनाए हुए हैं। अपनी कोठी में केवल अपने समर्थकों से ही मिल रहे हैं।

- 9 नवंबर को श्री करतारपुर साहिब कॉरिडोर के उद्घाटन समारोह में पाकिस्तान पहुंचे सिद्धू ने श्री करतारपुर गुरुद्वारा साहिब में दर्शन के लिए पहुंचे कैप्टन अमरिेंदर सिंह से दूरी बनाए रखी। हालाकि इस दौरान दोनों एक ही बस में सवार नजर आए थे।

- सुल्तानपुर लोधी में सरकार द्वारा आयोजित किसी भी कार्यक्रम में उन्होंने शिरकत नहीं की। पाकिस्तान सरकार के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए उन्होंने सरकार से मंजूरी लेने के लिए तीन बार पत्र लिखा।

--

घर तक सीमित हुए सिद्धू केवल तीन कार्यक्रमों आए नजर

- कैप्टन से नाराजगी के बाद सिद्धू पहली बार आठ अगस्त को अपने विधानसभा हलका अमृतसर पूर्वी में एलईडी स्ट्रीट लाइट प्रोजेक्ट के उद्घाटन लिए कोठी से निकले।

- 29 अगस्त को अपने हलके में गंदे नाले की सफाई का काम शुरू करवाने के लिए कोठी से बाहर आए।

- 9 नवंबर को श्री करतारपुर साहिब कॉरिडोर के उद्घाटन अवसर पर पाकिस्तान गए।

--

यह भी पढ़ें: बस में घटती नजर आईं दूरियां, सिद्धू ने कहा- एह ने साडे सनी भाजी, इमरान बोले- Good to see you

सियासी भविष्य पर अटकलों का बाजार गर्म

सिद्धू ने विधानसभा सत्र के साथ ही श्री करतारपुर साहिब कॉरिडोर के उद्घाटन के समय मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से दूरी बनाए रखी। इसी बीच उनकी भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के साथ मुलाकात की खबरें सामने आईं। परंतु इस सब के बीच सिद्धू की खामोशी के चलते उनके राजनीतिक भविष्य को लेकर राजनीतिक गलियारों में कई तरह की अटकलें लगाई जा रही हैैं।

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

 

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!