भोपाल, एजेंसी। वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा विधानसभा में बेजट पेश कर रहे हैं। वहीं कांग्रेस विभिन्न मुद्दों को लेकर विधानसभा के अंदर जोरदार हंगामा कर रही है। हंगामे के बीच वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा बजट पढ़ रहे हैं। सीएम शिवराज सिंह की अपील का भी विपक्ष के नेताओं और विधायकों पर असर नहीं हो रहा है। सभी कांग्रेस विधायक जोरदार हंगाम कर रहे हैं।

वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा को कांग्रेसी विधायक बजट नहीं पढ़ने दे रहे हैं। वित्त मंत्री हंगामे के बीच किसी तरह बजट पढ़ रहे हैं। पीसीसीचीफ कमलनाथ के नेतृत्व में कांग्रेस विधायक हंगामा कर रहे हैं। हंगामा पर सीएम शिवराज ने विपक्षी विधायकों से अपील करते हुए कहा कि- बजट भाषण सुन लें, फिर खूब विरोध करें। बावजूद इसके कांग्रेस विधायक सुनने को तैयार नहीं हैं। विपक्ष मध्यप्रदेश सरकार पर लगातार बढ़ रहे कर्ज, बेरोजगारी और महंगाई को लेकर नारे लगा रही है।

बजट पेश होने के बाद पूर्व सीएम कमलनाथ ने सोशल मीडिया एप कू पर लिखा कि हर वर्ष सरकार को हिसाब देना होता है कि रोज़गार, कृषि और बाकी के क्षेत्र में क्या-क्या किया गया। लेकिन इस बार भी बजट केवल झूठ और फरेब का तोता साबित हुआ है। ये बजट जनता को धोखा देने वाला बजट है।

Koo App

बजट पर कमलनाथ जी की प्रतिक्रिया- हर वर्ष सरकार को हिसाब देना होता है कि रोज़गार, कृषि और बाकी के क्षेत्र में क्या-क्या किया गया। लेकिन इस बार भी बजट केवल झूठ और फरेब का तोता साबित हुआ है। ये बजट जनता को धोखा देने वाला बजट है। — कमलनाथ

View attached media content

- MP CONGRESS (@MPCONGRESS) 9 Mar 2022

वहीं बजट के दौरान हंगामे पर गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि विपक्ष को पता ही नहीं कि विरोध कब करना चाहिए। बजट पेश ही नहीं हुआ और ये लोग विरोध कर रहे हैं। बता दें, वित्त मंत्री के बजट पेश करने से पहले ही विपक्ष ने हंगामा शुरू कर दिया। विपक्ष के विधायक गर्भ गृह तक पहुंच गए। इस बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहन ने विधान सभा सदस्यों से शांति की अपील की।

Edited By: Sanjeev Tiwari