चंडीगढ़, जेएनएन। पंजाब के मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने लोकसभा चुनाव 2019 को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्‍होंने कहा कि पंजाब में जिन मंत्रियों से संबंधित लोकसभा सीट पर कांग्रेस के प्रत्‍याशी की जीत नहीं हाेगी उन्‍हें कैबिनेट से हटा दिया जाएगा। यह फैसला पार्टी हाईकमान ने किया है।

 

कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने बुधवार को कहा कि राज्‍य मंत्रिमंडल के सभी मंत्रियाें को कांग्रेस प्रत्‍याशियों की जहत सुनिश्चित करना होगा। हाईकमान के फैसले के अनुसार, जो मंत्री कांग्रेस उम्‍मीदवाराें की जीत सुनिश्चित नहीं कर पाएंगे उनको कैबिनेट से हटा दिया जाएगा।

 

अमरिंदर सिंह ने कहा कि कांग्रेस ने अपने नेताओं के लिए चुनावी कामकाज व प्रदर्शन को ज़रूरी बनाया है।  पार्टी अध्‍यक्ष राहुल गांधी व पार्टी आलाकमान ने पंजाब के मंत्रियों और कांग्रेस विधायकों की लोकसभा चुनाव में पार्टी उम्मीदवारों की जीत के लिए ज़िम्मेदारी निर्धारित की गई है।

 

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा, पार्टी ने साफ किया है कि पंजाब की सभी 13 लोकसभा सीटों जीतने के मिशन के प्रति किसी तरह की कोताही सहन नहीं होगी। आलाकमान के फ़ैसले के अनुसार जो मंत्री अपने हलकों में कांग्रेस की जीत को सुनिश्चित बनाने में असफल रहेंगे उनको मंत्रिमंडल में से हटा दिया जाएगा। कांग्रेस विधायकों के संबंध में यह फ़ैसला किया गया है कि जो अपने हलकों में उम्मीदवारों की जीत यकीनी बनाने में नाकाम रहेंगे अगले विधानसभा चुनाव में टिकटों के लिए उनके नाम पर विचार नहीं किया जाएगा।

उन्‍होंने बताया कि पार्टी ने अलग-अलग बोर्डों में चेयरमैन नियुक्‍त करने मापदंड को भी सख़्त बनाया है। मौजूदा लोकसभा चुनाव में कांग्रेस प्रत्‍याशियों की जीत के लिए योगदान के आधार पर ही चेयरमैन बनाए जाएंगे। मुख्य मंत्री ने कहा कि बोर्डों और निगमों के संबंध में चुनाव में काम व प्रदर्शन को मापदंड बनाया गया है। मुख्‍यमंत्री ने कहा कि इन फ़ैसले का मुख्य उद्देश्य पार्टी में कामकाज आधारित सभ्याचार को बढ़ावा देना है। राहुल गांधी उन पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं को इनाम देने के हक में हैं जो निचले स्तर पर बढि़या प्रदर्शन दिखाएंगे।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!