नई दिल्ली, जेएनएन। Lok Sabha Election 2019: लोकसभा चुनाव-2019 की प्रक्रिया के चरण में दिल्ली की सातों सीटों पर आगामी 12 मई को मतदान होना है। इसमें एक महीने से भी कम का समय बचा है, लेकिन तीनों की बड़ी पार्टियों में लोकसभा उम्मीदवारों को लेकर असमंजस बरकरार है। इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि जहां आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) सभी सातों सीटों पर उम्मीदवारों को घोषित करने के बावजूद कांग्रेस (Congress) के साथ गठबंधन को लेकर असमंजस बना हुआ है, वहीं कांग्रेस ने चार तो भाजपा (Bhartiya Janata Party) ने अभी तक किसी भी सीट पर उम्मीदवार घोषित नहीं किया है। 

इस बीच कभी अरविंद केजरीवाल के करीबी रहे AAP के वरिष्ठ नेता कुमार विश्वास ने आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच चल रही गठबंधन की कवायद पर तंज कसा है।  कुमार विश्वास ट्वीट किया- 'दरवाजे पर जीभ दरवाज़े पर जीभ निकाल कर खड़े हुए आत्ममुग्ध बौने को जब कांग्रेस ने 50 बार 'लगभग मना' कर दिया तो आज 'लालायित' ने अपने 'निर्वीय-नायब' को जीभ निकलवाकर खड़ा कर दिया! क्रांति का ऐसा वीभत्स-पतन, विश्व-राजनीति में दुर्लभ है ! बस कुछ दिन और, 100 अपराध पूरे होने वाले हैं... 'शिशुपाल-वध' तय।

यहां पर बता दें कि लोकसभा चुनाव-2019 की तैयारी में जुटी कांग्रेस और दिल्ली में सत्तासीन आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) दोनों ही गठबंधन को लेकर अजीब स्थिति में फंस गई हैं। दिल्ली की सात में से चार लोकसभा सीटों पर उम्मीदवारों के नाम तय करने वाली कांग्रेस के दिल्ली प्रभारी पीसी चाको ने पिछले दिनों इशाऱों-इशारों में कहा है कि दिल्ली में अब भी AAP के साथ गठबंधन हो सकता है। इसके साथ ही उन्होंने शर्त रखी थी कि हम आज भी बात को तैयार हैं अगर AAP हमसे तर्क के साथ बात करे, हम किसी दूसरे राज्य के बारे में बात नहीं करेंगे। 

वहीं, शनिवार शाम को AAP नेता मनीष सिसोदिया ने कहा था कि अब यह कांग्रेस को तय करना है कि इस समय उसकी प्राथमिकता मोदी और शाह की जोड़ी को हराना है या ज्यादा सीटों पर चुनाव लड़ने का रिकॉर्ड बनाना है। अगर कांग्रेस चाहे तो अभी भी समय है, मोदी और शाह की जोड़ी को 18 सीटों पर हराया जा सकता है। हालांकि उन्होंने साफ किया कि कांग्रेस के साथ गठबंधन केवल दिल्ली को लेकर नहीं होगा, हरियाणा और चंडीगढ़ में भी गठबंधन करना होगा। हमने दिल्ली में सर्वे कराया है जिसमें सामने आया है कि कांग्रेस को जनता में जो समर्थन मिल रहा है वह छह से सात फीसद है।

दिल्ली-NCR की ताजा खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

 

Posted By: JP Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप