रांची, राज्‍य ब्‍यूरो। झारखंड की महागठबंधन सरकार में सहयोगी कांग्रेस के सभी 16 विधायकों ने शुक्रवार को कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी से नई दिल्‍ली में मुलाकात की। इस क्रम में सभी विधायकों को आलाकमान की ओर से झारखंड के लिए बढ़-चढ़कर काम करने की हिदायत दी गई। प्रदेश प्रभारी आरपीएन सिंह की अगुआई में कांग्रेस हाई कमान के सामने सभी नव निर्वाचित विधायकों के साथ ही सांसद गीता कोड़ा और धीरज साहू ने भी अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। उम्‍मीद जताई जा रही है कि मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन की सरकार में कांग्रेस कोटे से अभी चार विधायक और मंत्री बनाए जाएंगे। साथ ही कैबिनेट में गृह और वित्‍त जैसे महत्‍वपूर्ण मंत्रालय की भी डिमांड रखी गई है।

झारखंड में सीएम के साथ कांग्रेस के दो मंत्रियों कांग्रेस विधायक दल के नेता आलमगीर आलम और प्रदेश अध्‍यक्ष रामेश्‍वर उरांव ने शपथ ली थी। कांग्रेस की ओर से कैबिनेट में कुल पांच मंत्री पद के दावे पर गौर करें तो अब भी तीन मंत्री उसके कोटे से बनाए जाने बाकी हैं। ऐसे में बाकी बचे मंत्रियों के नाम पर भी आज आखिरी फैसला संभव है। साथ ही सरकार के मंत्रालयों पर भी निर्णय लिया जाएगा।

जानकारी के मुताबिक कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात के लिए आलमगीर आलम, रामेश्‍वर उरांव के अलावा कांग्रेस के सात विधायक दिल्‍ली पहुंच चुके हैं। बाकी बचे 7 विधायक भी शुक्रवार को पहली फ्लाइट से दिल्‍ली रवाना होंगे। कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी आरपीएन सिंह की अगुआई में सभी विधायक कांग्रेस आलाकमान से मिलेंगे। इन विधायकों से मुलाकात के लिए सोनिया गांधी ने सुबह 11 बजे का समय दिया है।

बता दें कि झारखंड विधानसभा चुनाव में बड़ी जीत दर्ज करने और झारखंड की सत्‍ता पर काबिज होने के बाद विधायकों ने सोनिया गांधी से मुलाकात के लिए समय की मांग की थी। इस बारे में विधायक दल के नेता आलमगीर आलम के आग्रह पर सोनिया ने सबसे मिलने की सहमति दी है। बताया गया है कि यह मुलाकात औपचारिक होगी। हालांकि, प्रदेश में मंत्रिमंडल विस्‍तार की चर्चाओं के बीच नए विधायकों को मंत्री बनाए जाने के नाम पर भी आखिरी मुहर लग सकती है।

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस