चंडीगढ़, जेएनएन। Punjab Budget 2020 पेश किए जाने से पहले यहां हाई वाेल्‍टेज ड्रामा हुआ। यह पूरा ड्रामा शिरोमणि अकाल दल के विधायकाें ने किया। उनके साथ राज्‍य में आत्‍महत्‍या करने वाले कई किसानों के परिजन भी थे। शिअद विधायकों ने बजट पेश करने के लिए विधानसभा जाने की तैयारी कर रहे वित्‍तमंत्री मनप्रीत सिंह बादल के आवास को घेर लिया। शिअद विधायकों ने मनप्रीत को विधानसभा जाने से रोक दिया। बाद में काफी मशक्‍कत के बाद पुलिस ने प्रदर्शनकारी विधायकों को हटाकर हिरासत में लिया। हसके बाद मनप्रीत विधानसभा के लिए रवाना हो सके।

पंजाब के वित्तमंत्री मनप्रीत सिंह बादल को आज बजट पेश करने के लिए साढ़े दस बजे विधानसभा में पहुंचना था। वह इसके लिए अपने आवास से निकलने को तैयार थे कि तभी शिअद विधायक किसानों के जत्‍थे के साथ पहुंच गए। उन्‍होंने मनप्रीत बादल के आवास को घेर लिया। इससे उनका बाहर निकलना मुकिश्‍ल हो गया। विधायकों ने उनका आवास घेर लिया। ऐसा पहली बार हुआ है।

इन विधायकों का नेतृत्‍व पूर्व मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया कर रहे थे। विधायकों और किसानों के जत्‍थे ने मनप्रीत बादल के आवास को घेर लिया और नारेबाजी करने लगे। इससे मनप्रीत बादल का आवास से निकलना मुयिकल हो गया। इस दौरान पुलिस अधिकारियों ने विधायकों से आवास का घेराव समाप्‍त करने की अपील की, लेकिन उन्‍होंने उनकी एक न सुनी और नारेबाजी करते रहे।

घेराव के कारण मनप्रीत पंजाब विधानसभा नहीं पहुंचे। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह साढ़े दस बजे के करीब विधानसभा में पहुंच गए थे। मनप्रीत सिंह बादल के विधानसभा में नहीं पहुंच पाने के कारण स्पीकर राणा केपी सिंह ने 10.58 AM पर सदन की कार्यवाही 20 मिनट के लिए स्थगित कर दी।

इसी बीच शिअद विधायक आवास के बाहर से नहीं हटे तो पुलिस दने उनको जबरन हटाना शुरू किया। पुलिस ने शिअद के विधायकों और पूर्व मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया हिरासत में ले लिया गया है। इस दौरान शिअद विधायकों और बिक्रम मजीठिया की सुरक्षाकर्मियों और पुलिसके साथ धक्का-मुक्की भी हुई।  पुलिस मजीठिया को उठाकर ले गई। मजीठिया केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल के भाई हैं।

इसके बाद वित्‍तमंत्री मनप्रीत सिंह बादल विधानसभा के लिए रवाना हुए। वह पंजाब विधानसभा में 10.59 AM पर पहुंचे, लेकिन तब तक सदन की कार्यवाही 20 मिनट के लिए स्‍थगित कर दिया था। मनप्रीत बादल को 11 बजे बजट पेश करना था, लेकिन उनका बजट भाषण करीब 18 मिनट देरी से शुरू हुआ।

शिअद विधायकों को लेकर पुलिस सेक्‍टर तीन पुलिस स्‍टेशन पहुंची। बाद में पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल सेक्टर 3 पुलिस स्टेशन पहुंचे। इस दौरान पत्रकारों को पुलिस स्‍टेशन के अंदर नहीं जाने दिया गया। बादल ने पुलिस स्टेशन के अंदर से ही पत्रकारों से बातचीत की। बादल ने पुलिस की कार्रवाई को गलत बताया।

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!