जेएनएन, चंडीगढ़। हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा है कि राज्‍य मेें दूध की रखवाली बिल्‍ली करने जैसी हालत है। हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के माध्‍यम से तीन साल के दौरान दी गई सभी सरकारी नौकरियों की हाईकोर्ट के कार्यरत न्यायाधीश से जांच कराए जाए। हुड्डा ने सरकार पर खिलाडिय़ों की अनदेखी का आरोप लगाया। उन्‍होंने कहा कि यदि मौका मिला तो आगे भी वह खेल कोटे से खिलाडिय़ों को सरकारी नौकरियां देंगे तथा पुरस्कार राशि बढ़ाकर दी जाएगी।

तीन साल में दी सरकारी नौकरियों की जांच कराए मनोहर सरकार

3 जून से आरंभ होने वाली जनक्रांति रथयात्रा के दूसरे चरण की तैयारियों में जुटे हुड्डा ने रविवार को अपने समर्थकों के साथ बैठकें की। पत्रकारों से बातचीत में हुड्डा ने कहा कि सत्ता का रास्ता जीटी रोड बैल्ट से होकर गुजरता है। समालखा में 3 जून से उनकी रथयात्रा दोबारा शुरू होगी। पानीपत जिले में चार दिन गुजारने के बाद यहीं से अगले जिले की रथयात्रा का ऐलान करेंगे।

यह भी पढ़ें: सामान्‍य वर्ग के गरीबों के लिए खुशखबरी, नौकरियों में आर्थिक अाधार पर आरक्षण से रोक हटी

हुड्डा ने कहा कि हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के चेयरमैन को निलंबित करने का कोई प्रावधान नहीं है। राज्यपाल ने बिना परखे सरकार की सिफारिश मानते हुए चेयरमैन को निलंबित करने के आदेश जारी कर दिए। आयोग में नौकरियां खुले तौर पर बेची गई हैं। आठ कर्मचारी पहले ही पकड़े जा चुके। भारत भूषण भारती की देखरेख में नौकरियां बेची गई। सीएम फ्लाइंग पूरे मामले की जांच कर रही है, जो कि बिल्ली को दूध की रखवाली करने के लिए बैठाने जैसा है।

हुड्डा ने कहा कि हमारे समय में यदि किसी खिलाड़ी की माता या पिता भी हरियाणा का हुआ, उसे भी सम्मानित किया गया, ले‍किन भाजपा सरकार ने पुरस्कारों की राशि ही हड़प कर ली। कांग्रेस की सरकार आने पर इस पुरस्कार राशि में बढ़ोतरी होगी। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खिलाडिय़ों का अपमान करने के बाद खुद गुल्ली डंडा खेलने में व्यस्त हैं। वह दिखावे और बहकावे के साथ ही अब पछतावे की सरकार चला रहे हैैं। उन्होंने जस्टिस ढींगरा आयोग से पहले प्रकाश सिंह कमेटी की रिपोर्ट सार्वजनिक करने की मांग की।

अनिल विज शून्य और जोकर से अधिक कुछ नहीं

हुड्डा ने स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज को शून्य और जोकर करार दिया है। उन्होंने विज की उस टिप्पणी पर कोई राय जाहिर नहीं की, जिसमें उन्‍होंने कहा था कि देश में बंटवारे व लोगों की मौत के जिम्मेदार महात्मा गांधी हैं। हुड्डा ने कहा कि शून्य और जोकर आदमी की बात का कोई वजन नहीं होता। जौकर पैदा ही लोगों को हंसाने के लिए होता है।

हाथ में झाडू लेकर फोटो खिंचवाने वाले अब कहां गए

हुड्डा ने शहरी निकाय कर्मियों की हड़ताल पर राज्य सरकार को जमकर घेरा। उन्होंने कहा कि पूरा प्रदेश गंदगी से अट गया है। स्वच्छ भारत स्वच्छ हरियाणा मिशन की शुरुआत करने के दौरान झाडू हाथ में लेकर फोटो खिंचवाने वाले अब गायब हो गए। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा ने 154 वादों में से कोई भी पूरा नहीं किया है।

यह भी पढ़ें: ढींगरा आयोग की रिपोर्ट सार्वजनिक करने की तैयारी, पूरा होने को है सुप्रीम कोर्ट से दिया

जेल नहीं बस भरो आंदोलन चला रहा इनेलो

हुड्डा ने एसवाईएल नहर निर्माण के लिए इनेलो-बसपा द्वारा चलाए जा रहे जेल भरो आंदोलन पर भी सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि यह जेल भरो नहीं बल्कि बस भरो आंदोलन है। अभी तक एक भी बस जेल तक नहीं पहुंची है। यह आंदोलन ठीक उसी तरह से है, जिस तरह से इनेलो ने एसवाईएल नहर की खुदाई की था।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस