जेएपनएन, चंडीगढ़। सिख राज्य की मांग को लेकर रेफरेंडम 20-20 पर पंजाब के मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह और आम आदमी पार्टी के विधायक व नेता प्रतिपक्ष सुखपाल सिंह खैहरा आमने-सामने आ गए हैैं। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा है कि रेफरेंडम 20-20 का खैहरा द्वारा समर्थन किए जाने की जांच करवाई जा रही है। मामले में खैहरा दोषी पाए गए तो उनके विरुद्ध एफआइआर दर्ज करवाई जाएगी। वहीं, खैहरा ने भी चुनौती दे दी है कि कैप्टन उनके विरुद्ध एफआइआर दर्ज करवाएं। साथ ही उनका कहना है कि इससे पहले सरकार यह दिखाए कि रेफरेंडम का उन्होंने कहां पर समर्थन किया है।

रेफरेंडम 20-20 को समर्थन मामले में सीएक और नेता विपक्ष आमने-सामने

लोकसभा चुनाव से पहले राजनीतिक पार्टियां मुद्दों की तलाश में जुटी हुई हैं। इस बीच रेफरेंडम 20-20 का मुद्दा हावी होता नजर आ रहा है। दो दिनों से गरम हो रहे इस मुद्दे को मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने हवा देते हुए  कहा कि इस मामले में वह जांच करवा रहे हैं कि अगर खैहरा दोषी पाए गए तो उनके विरुद्ध एफआइआर दर्ज करवाई जाएगी। कैप्टन ने स्पष्ट संकेत दिए कि कानूनी राय के बाद खैहरा की परेशानी बढ़ सकती है।

मुख्यमंत्री ने कहा- बढ़ सकती हैं खैहरा की मुश्किलें, खैहरा बोले-सरकार साबित करे कहां पर समर्थन किया 

दूसरी तरफ, आप विधायक खैहरा ने भी आक्रामक रुख अपनाते हुए मुख्यमंत्री को चुनौती दी है कि वे एफआइआर दर्ज करवा कर दिखाएं। साथ ही उन्होंने कहा कि सरकार को यह भी साबित करना चाहिए कि उन्होंने (खैहरा ने) कब और कहां पर रेफरेंडम 20-20 का समर्थन किया। सरकार अभी तक इसे साबित क्यों नहीं कर पाई है।

यह भी पढ़ें: सिद्धू के एक्‍शन पर पंजाब में बंटी कांग्रेस, अब कैप्‍टन के जरिये घेरने की तैयारी

खैहरा का कहना है कि कभी भी उन्होंने सिख राज्य की मांग को लेकर रेफरेंडम 20-20 का समर्थन नहीं किया। उन्हें यह कहने में कोई हिचक नहीं है कि आजादी से लेकर सफल सरकारों के पीछे सिखों की कुर्बानियों को कभी नहीं भूला जा सकता है।

क्या है रेफरेंडम 20-20

गर्मख्याली सिख संगठनों की ओर से खालिस्तान की मांग के समर्थन में रेफरेंडम 20-20 का नारा बुलंद किया गया है। रेफरेंडम (जनमत संग्रह) की मांग करने वाले सिख संगठनों के ज्यादातर प्रमुख कनाडा आदि देशों में हैैं। वहीं से वे इस मुहिम को हवा दे रहे हैैं।

यह भी पढ़ें: आखिरी बार सफाई दे रहा हूं, 2020 रेफरेंडम का समर्थन नहीं किया: खैहरा

 

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!