लखनऊ, जेएनएन। Fight Against Corona Virus : तब्लीगी जमात की करतूत से उत्तर प्रदेश में हर तरफ नाराजगी है। उनके कृत्य की जमकर निंदा हो रही है। यूपी में संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ने की वजह से ही पंद्रह जिलों में सरकार ने हॉटस्पॉट चिह्नित कर उन्हें सील किए हैं। इस बीच बयान जारी कर उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और ऊर्जा मंत्री व सरकार के प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा ने हालात पर चिंता जताने के साथ ही जनता को आश्वस्त किया है कि यूपी सरकार पूरी तरह मुस्तैद है। लॉकडाउन में सभी को आवश्यक वस्तुएं उपलब्ध कराई जाएंगी।

उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने गुरुवार को जारी बयान में कहा कि देश-प्रदेश में जिस तरह कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ रही है, उसके पीछे सबसे महत्वपूर्ण कारण दिल्ली के मरकज में शामिल हुए तब्लीगी जमात के लोग हैं। इस जमात के कारण हुए संक्रमण से आज सभी संकट के दौर से गुजर रहे हैं। समाज का एक बड़ा तबका इस संक्रमण से भयग्रस्त है, जिसका मुख्य कारण तब्लीगी जमात है। प्रदेश में अब तक के कुल कोरोना मरीजों में जमात के लोगों की संख्या सबसे अधिक है। उन्होंने कहा कि विभिन्न जिलों में इन लोगों के उद्दंड कार्यों की भी सूचनाएं लगातार मिल रही हैं, जहां हमारे कोरोना योद्धाओं जैसे पुलिस, डॉक्टर व नर्स के साथ गलत व्यवहार किया जा रहा है।

इसे चिंताजनक ठहराते हुए उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि इसी वजह से बढ़ रहे मरीजों की संख्या के कारण प्रदेश सरकार ने 15 जिलों में हॉटस्पॉट चिह्नित किए हैं। इन क्षेत्रों में प्रत्येक घर के हर सदस्य का परीक्षण किया जा रहा है। मौर्य ने कहा कि इन सभी 15 जिलों के लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है। सरकार पूरी मुस्तैदी के साथ काम कर रही है। किसी व्यक्ति को किसी प्रकार की दिक्कत नहीं होने दी जाएगी। राशन, दवा व सब्जियों की होम डिलीवरी की जा रही है।

ऊर्जा मंत्री व सरकार के प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा ने कहा कि कोरोना रूपी जहर को फैलने से रोकना सरकार की प्राथमिकता है। इसके लिए ही 15 जिलों में उन हॉटस्पॉट को चिह्नित किया गया है, जहां से कोरोना पॉजिटिव मरीज ज्यादा मिले हैं। श्रीकांत ने बताया कि उन इलाकों को सैनिटाइज किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जनता की हिफाजत के लिए हमारे कोरोना योद्धा 24 घंटे मुस्तैदी से काम कर रहे हैं।

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि बहुत हद तक कोरोना पर हम लोगों ने विजय प्राप्त कर ली थी लेकिन, तब्लीगी जमात का जो रवैया सामने आया, उससे कहीं न कहीं लोगों को निराशा हुई। एक तरफ पूरा मुल्क एक साथ होकर कोरोना का जहर फैलने से रोक रहा है तो वहीं जमात के कुछ मुट्ठी भर लोग यह जहर फैलाने का काम कर रहे हैं।