जयपुर, जागरण संवाददाता। कोरोना महामारी के चलते स्थगित हुए राज्यसभा चुनाव अब 19 जून को होंगे। राजस्थान से राज्यसभा की 3 सीटों के लिए चार उम्मीदवार मैदान में है। इनमें कांग्रेस के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री के.सी.वेणुगोपाल व नीरज डांगी, भाजपा के राजेंद्र गहलोत और ओंकार सिंह लखावत शामिल है। दरअसल, तीनों सीटों पर चुनाव प्रक्रिया 6 मार्च से शुरू हुई थी। नामांकन-पत्र दाखिल करने की अंतिम तारीख 13 मार्च थी और 16 मार्च को नामांकन पत्रों की जांच हुई थी। जांच में सभी नामांकन पत्र सही पाए गए थे। पहले से तय कार्यक्रम के अनुसार 26 मार्च को चुनाव तय था। लेकिन इसी बीच कोरोना महामारी का प्रकोप बढ़ गया और चुनाव प्रक्रिया बीच में ही रोक दी गई थी। अब नये कार्यक्रम के अनुसार 19 मई को चुनाव होगा।

वोटों का गणित

तीन सीटों पर चुनाव हो रहे हैं। इनमें सभी 200 विधायक मतदान करेंगे। एक सीट पर चुनाव जीतने के लिए प्रथम वरियता के 51वोट चाहिए। कांग्रेस के पास 107 वोट हैं। वहीं भाजपा के पास 72 विधायकों का वोट बैंक है। 13 निर्दलीय विधायकों में से 11 कांग्रेस के पक्ष में है और एक भाजपा के साथ है,एक की स्थिति साफ नहीं है। माकपा व राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के विधायकों की कुल संख्या 8 है। इनमें से माकपा कांग्रेस के साथ है तो राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी भाजपा के समर्थन में है। तय फार्मूले के अनुसार कांग्रेस को 2 सीट जीतने के लिए प्रथम वरियता के 102 वोट चाहिए, जो उसके पास है। वहीं भाजपा को भी दोनों उम्मीदवरों की जीत के लिए प्रथम वरियता के 102 वोट चाहिए, लेकिन उसके पास खुद के अलावा समर्थकों के मिलाकर 76 ही है। ऐसे में फिलहाल भाजपा के खाते में एक ही सीट आने वाली नजर आ रही है। अब सबकी निगाह चुनाव पर है। 

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस